तेलंगाना में मंदिर-मस्जिद को लेकर विवाद तेज, KCR के खिलाफ कांग्रेस-भाजपा ने खोला मोर्चा

तेलंगाना में मंदिर-मस्जिद को लेकर विवाद तेज, KCR के खिलाफ कांग्रेस-भाजपा ने खोला मोर्चा

हैदराबाद: तेलंगाना के सचिवालय परिसर में नल्ला पोचम्मा मंदिर और दो मस्जिद को ध्वस्त किए जाने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है. अब इस मामले पर सियासी दलों द्वारा आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला भी आरंभ हो गया है. कांग्रेस और भाजपा ने इसे इतिहास का काला दिन करार दिया है.

कांग्रेस वर्किंग प्रेसिडेंट और सांसद ए. रेवंत रेड्डी ने सीएम के चंद्रशेखर राव पर हमला बोला है. रेड्डी ने कहा, 'सीएम KCR की भावनाएं अन्य सभी समुदायों की धार्मिक भावनाओं से काफी ऊपर थी. सीएम KCR के अंधविश्वास की वजह से सचिवालय परिसर के साथ नल्ला पोचम्मा मंदिर और दो मस्जिदों को ध्वस्त कर दिया गया. चंद्रशेखर अपने बेटे तारकराम राव को अगला सीएम बनवाना चाहते हैं.' रेड्डी ने आगे कहा कि सचिवालय परिसर की बिल्डिंग दहाने का मुख्य कारण सीएम का अंधविश्वास है. सीएम वास्तु के मुताबिक, काम करते हैं. उन्हें लगता है कि अयोग्य सचिवालय उनके बेटे का सियासी भविष्य सुरक्षित नहीं कर सकता. सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के मुताबिक हुसैनसागर के पास स्थायी बिल्डिंग का निर्माण नहीं हो सकता है और हम इस मामले में शीर्ष अदालत भी जाएंगे.

वहीं दूसरी ओर भाजपा के महासचिव पी. मुरलीधर राव ने भी केसीआर सरकार को निशाने पर लिया है. राव ने कहा कि अब उनकी सरकार के दिन पूरे हो चुके हैं. नाला पोचम्मा मंदिर को ध्वस्त करना एक अभिशाप साबित होगा, जो केसीआर सरकार को परेशान किए बिना नहीं छोड़ेगा.

वैश्विक स्तर पर चमका सोना, कीमत कर देगी तुरंत खरीदने पर मजबूर

दुनिया के सातवें सबसे धनी व्यक्ति बने मुकेश अंबानी, नए निवेश ने बढ़ाया शेयर प्राइस

कोरोना काल में भी जमकर चांदी काट रहा फर्नीचर का कारोबार, जानिए क्या है वजह