कोरोना वायरस : भाजपा ने कांग्रेस के इस आरोप को बताया गलत

कोरोना वायरस : भाजपा ने कांग्रेस के इस आरोप को बताया गलत

भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस के इस आरोप को फर्जी बताया है कि भारत के पास पर्याप्त संख्या में व्यक्तिगत सुरक्षात्मक उपकरण (पीपीई) नहीं थे. भाजपा ने तंज कसते हुए कहा है कि क्या विपक्षी पार्टी को सरकारी खजाने को लूटने का मौका नहीं मिलने का मलाल है. इससे पहले कांग्रेस ने कहा था कि सरकार दो मार्च तक डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों के विवरण को परिभाषित नहीं करने की अपराधी है.

गुजरात : राज्य में संक्रमण का आंकड़ा 38 तक पहुंच, इतने लोग हुए होम क्‍वॉरोन्‍टाइन

इस मामले को लेकर भाजपा आइटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया, 'डब्ल्यूएचओ ने 27 फरवरी को एडवाइजरी जारी कर कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के सीधे इलाज से जुड़े स्वास्थ्यकर्मियों के लिए पीपीई का इस्तेमाल जरूरी है. भारत ने फरवरी के पहले हफ्ते में 21,000 और मार्च के पहले हफ्ते में और 30,000 सुरक्षा उपकरण का आयात किया. इसके अलावा देश में हर हफ्ते 35,000 पीपीई तैयार करने की क्षमता है.' उन्होंने अपने इस दावे की पुष्टि के लिए ट्वीट के साथ दस्तावेज भी अटैच किए.

नीचता पर उतरा पाक, साजिश के तहत PoK में शिफ्ट किए 200 'कोरोना' मरीज

आपकी जानकारी के लिए बात दे कि इससे पहले, कांग्रेस ने दो मार्च तक पीपीई की कमी का आरोप लगाया था. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को कोरोना वायरस के खतरे को और गंभीरता से लेना चाहिए था. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'मैं बहुत दुख महसूस कर रहा हूं, क्योंकि इससे पूरी तरह से बचा जा सकता था. हमारे पास तैयारी करने का वक्त था. हमें इस खतरे को बहुत अधिक गंभीरता से लेना चाहिए था और अच्छी तैयारी करनी चाहिए थे.' हालांकि, बाद में राहुल गांधी ने जिस ट्विटर हैंडल से कोट किया था, वह बाद में गायब हो गया.

कोरोना वायरस के भय में इस बीमारी के शिकार न हो जाए आप

सऊदी अरब में कोरोना से पहली मौत, 300 से अधिक संक्रमित

कोरोना: पाक के 7 मौतों में मचा हाहाकार, संक्रमित लोगों की संख्या एक हज़ार