हरियाणा में भी नहीं बन पायी कांग्रेस और आप गठबंधन पर बात

Apr 08 2019 07:58 PM
हरियाणा में भी नहीं बन पायी कांग्रेस और आप गठबंधन पर बात

नई दिल्ली : इस बार हरियाणा में लोकसभा चुनाव कांग्रेस अपने दम पर लड़ेगी। प्रदेश में आम आदमी पार्टी के साथ चुनावी गठबंधन नहीं होगा। अगर आप के साथ कांग्रेस का गठबंधन होता भी है तो वह दिल्ली तक ही सीमित रहेगा। हरियाणा कांग्रेस के नेताओं ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को अवगत करा दिया है कि प्रदेश में पार्टी मजबूत है और यहां गठबंधन की कोई जरूरत नहीं है। 

राजधानी में आज 13 हजार से ज्यादा बूथों पर आयुष्मान मार्च निकालने जा रही है बीजेपी

ख़त्म हुई सारी संभावनाएं 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार अब इसके बाद हरियाणा में आप और कांग्रेस के हाथ मिलाने की संभावनाएं लगभग खत्म हो गईं हैं। वही 11 अप्रैल को दिल्ली में कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होगी। इसी दिन हरियाणा में सभी दस सीटों पर कांग्रेस अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर सकती है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर और एआईसीसी मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने इसकी पुष्टि की है। 

आज लगातार तीन रैलियां कर जम्मू के कार्यकर्ताओं में जोश भरेंगे राजनाथ सिंह

केजरीवाल मांगे कांग्रेस का साथ 

जानकारी के अनुसार तंवर और सुरजेवाला के मुताबिक हरियाणा में कांग्रेस और आप का मेल नहीं होने जा रहा। सुरजेवाला के अनुसार अगर गठबंधन होगा भी तो आप के साथ दिल्ली में ही होगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राहुल गांधी से मुलाकात कर दिल्ली के साथ ही हरियाणा और पंजाब में भी गठबंधन की पेशकश की है। केजरीवाल का तर्क है कि अगर आप और कांग्रेस तीनों राज्यों में साथ आते हैं तो भाजपा को हराना आसान होगा।

लोकसभा चुनाव के लिए आज बीजेपी जारी कर सकती है अपना घोषणा पत्र

आठ अप्रैल को सहारनपुर के गांधी पार्क मैदान में जनसभा को सम्बोधित करेंगे राहुल और प्रियंका

कांग्रेस के लिए देशभर में चुनाव प्रचार करेंगे राबर्ट वाड्रा