नर्मदा के तटों पर पहरेदारी करेगी कंप्यूटर बाबा की टोली, अवैध खनन पर लगाएगी रोक

भोपाल: नामदेव दास त्यागी उर्फ कंप्यूटर बाबा, मध्य प्रदेश में नर्मदा, क्षिप्रा और मंदाकिनी नदी न्यास के प्रमुख का पदभार संभालने के बाद से सुर्ख़ियों में बने हुए हैं. बाबा आज से टोली के साथ सीहोर जिले की नसरुललागंज तहसील के नर्मदा नदी तटों पर पहरेदारी करेंगे. अवैध रेत खनन रोकने के लिए बाबा के साथ साधु-संतों की टोली भी उपस्थित रहेगी.

इस दौरान कंप्यूटर बाबा नर्मदा स्वच्छता का संदेश देंगे और नदी के किनारों पर वृक्ष भी उगाएंगे. बाबा का कहना है कि अवैध खनन रोकने नर्मदा युवा सेना भी गठित की जाएगी. इससे अवैध उत्खनन पर नज़र रखी जा सकेगी. दरअसल, कंप्यूटर बाबा ने अपने एक बयान में कहा था कि बाबाओं की टोली रेत का अवैध खनन पर अंकुश लगाने के लिए खदानों में डेरा डालेगी. पूरे प्रदेश के लिए चार टोलियां बनाई जाएंगी. एक टोली में 250 से लेकर 300 बाबा होंगे, जो बगैर किसी रोक-टोक के सीधे खदानों में दबिश देंगे.

बाबा ने सूबे की कमलनाथ सरकार से हेलीकॉटर की मांग भी कर डाली है. बाबा का कहना है कि नर्मदा नदी के हालात का निरिक्षण करने के लिए राज्य सरकार उन्हें हेलीकॉप्टर मुहैया कराए. नर्मदा नदी इन दिनों अवैध खनन और अतिक्रमण को लेकर ख़बरों में छाई हुई है. पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल में कंप्यूटर बाबा ने नर्मदा के अवैध खनन को लेकर शिवराज सिंह चौहान पर जमकर निशाना साधा था.  

तेज रफ़्तार बस के सामने अचानक आया सांड, दर्दनाक हादसे में गई 12 लोगों की जान

ममता बनर्जी के साथ पीएम शेख हसीना ने की मुलाकात, तीस्ता समझौते को लेकर हुई बात

नेपाल में घुसपैठ कर रहा चीन, सहयोग के लिए आगे आए भारत- बाबा रामदेव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -