करे सकारात्मक तुलना

Nov 19 2016 08:21 PM
करे सकारात्मक तुलना

जब हम किसी से अपनी बेबुनियाद तुलना करने लगते हैं तो हम भूल जाते हैं कि हम अपना ही नुकसान कर रहे हैं. समय एक ऐसी चीज़ है जो लौटकर नहीं आता और न ही किसी का इंतजार करता है. हम इस बात पर ध्यान नहीं देते कि हम इस दौरान अपना कितना समय बर्बाद कर रहे हैं. इसके साथ ही, ऊर्जा भी नष्ट होती है. इस समय और ऊर्जा को अगर हम अपनी बेहतरी के लिए किए जाने वाले काम में लगाएंगे तो हमारा ही विकास होगा. हम बेहतर इंसान बन पाएंगे और फिर हम इस तरह से किसी से अपनी तुलना करके निराश नहीं होंगे.

तुलना करना गलत नहीं है, यदि वह स्वस्थ तुलना है. हम किसी को हराने के इरादे से नहीं, अपनी कमियों पर जीत पाने के लिए तुलना करते हैं. लेकिन हम सकारात्मक तुलना कम करते हैं. जो हमारे पास है, उससे हम संतुष्ट नहीं हैं और वह सब कुछ पाना चाहते हैं जो दूसरों के पास है. पद, प्रतिष्ठा, संपत्ति या कुछ और जिससे हम समझते हैं कि हमें खुशी मिल सकती है.

दूसरों से अपनी तुलना हममें ईर्ष्या और असुरक्षा ही पैदा करती है. अगर हम दूसरों से तुलना करते, अपने आप में बेहतर बदलाव लाने की कोशिश करें, तो वह स्वस्थ तुलना होगी.

नौकरी पाने के लिए इस मन्त्र का करें जाप