बॉल टेम्परिंग का मेल धोया कॉमनवेल्थ गेम्स ने: ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया: राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन समिति के अध्यक्ष पीटर बैटी ने आज कहा कि ‘क्रिकेट गेंद से छेड़छाड़’ प्रकरण के बाद हुई ऑस्ट्रेलिया की बदनामी के बाद इसके सफल अयोजन ने खेलों की दुनिया में देश की खोई प्रतिष्ठा वापस दिला दी है. ज्ञात हो कि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ, उपकप्तान डेविड वॉर्नर और केमरन बैनक्रॉफ्ट को केप टाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच में गेंद को छेड़छाड़ करने का दोषी ठहराया गया था जिससे ऑस्ट्रेलिया की खेल संस्कृति की कड़ी आलोचना हुई थी.

बैटी ने कहा, ‘इन खेलों ने ऑस्ट्रेलिया की वैश्विक प्रतिष्ठा को बहाल किया है. राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान हमारी खेलभावना देखने को मिली जो ऑस्ट्रेलिया की पहचान भी है. इसमे उचित खेल के साथ कोई धोखाधड़ी ना हो और विजेताओं का सम्मान करना शामिल है.’

आपको बता दें कि गोल्ड कोस्ट में खेले गए 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में ऑस्ट्रेलिया ने सबसे ज्यादा 198 मेडल जीते. ऑस्ट्रेलिया (80 गोल्ड, 59 सिल्वर,  59 ब्रॉन्ज) और इंग्लैंड (45 गोल्ड, 45 सिल्वर,  46 ब्रॉन्ज) क्रमश: पहले और दूसरे नंबर पर रहे. भारत कुल 66 पदक जीते. 26 गोल्ड, 20 सिल्वर और 20 ब्रॉन्ज मेडल के साथ पदक तालिका में तीसरे स्थान पर रहा.  भारत का कॉमनवेल्थ गेम्स में यह तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा. 

एरॉन फिंच लेना चाहते है कप्तान स्मिथ की जगह

CWG2018: बैडमिंटन में किदाम्बी श्रीकांत को सिल्वर मेडल

CWG2018:इस खिलाड़ी ने बिना खेले ही जीता गोल्ड

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -