फैथई ने छत्तीसगढ़ में भी दिखाया असर, ठंडा हुआ मौसम

रायपुर : राजधानी में ठण्ड अपना कहर बरपा रही है इसी के साथ पिछले करीब एक दशक का सबसे ठंडा दिन सोमवार रहा। जंहा दिन का अधिकतम तापमान 16.2 डिग्री तक पहुंच गया। इसलिए मौसम विभाग ने सोमवार को शीत दिवस घोषित कर दिया। वही इससे पहले साल 1989 में दिसंबर के महीने में दिन का तापमान सबसे कम 19.7 डिग्री रिकार्ड किया गया था। सोमवार का तापमान इससे 3.5 डिग्री कम दर्ज किया गया। मौसम विशेषज्ञों की माने तो उनके पास इससे पहले का पुख्ता डेटा नहीं है, लेकिन जो जानकारियां उपलब्ध हैं, उनके अनुसार दिसंबर में इससे ठंडा दिन पिछले 100 साल में नहीं था। 

'फेथई' का असर ज्यादा 
मौसम विभाग की माने तो दिसंबर माह में सक्रिय हुए बेहद शक्तिशाली तूफान फेथई की वजह से छत्तीसगढ़ ही नहीं, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, ओडि़शा में भी सोमवार को बारिश हुई। फेथई  तूफान सोमवार को दोपहर आंध्रप्रदेश के काकीनाड़ा तट से टकराया। इसके बाद उत्तर-पूर्व आंध्रप्रदेश की ओर बढ़ गया है। तट से टकराते समय हवा की रफ्तार 70 से 90 किलोमीटर प्रति घंटे थी। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार शाम तक तूफान कमजोर हो गया है। लेकिन इस तूफान के असर से राजधानी समेत प्रदेश के अधिकांश हिस्से में रविवार की रात से ऐसी बारिश शुरू हुई कि सोमवार को पूरा दिन बरसने के बाद आधी रात तक चली और एक मिनट के लिए भी थमी नहीं। इस वजह से दिन का तापमान सामान्य से 12 डिग्री गिर गया और 16.2 डिग्री दर्ज किया गया।  

आज से और ज्यादा ठंडी हो सकती है राजधानी

ताजनगरी में भी सर्द हवाओं का कहर जारी

छत्तीसगढ़ में भी दिखाई देने लगा 'फेथई' का असर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -