वातावरण में छाई ठंडक, लोगों की बढ़ी परेशानी

मेरठ। वातावरण में सुबह सवेरे आपको हल्की ठंडक का अनुभव होता होगा। संभव है कि आप दीपावली के मौके पर सुबह स्नान कर बाहर निकले होंगे और कंपकंपी ने आपको परेशान कर दिया होगा। जी हां, कुछ इस तरह का अनुभव दीपावली पर सुबह सवेरे नहाने पर आपको मिला होगा। इन दिनों मौसम का मिजाज बदला हुआ है। वातावरण में ठंडक घुल गई है। सुबह शाम लोगों को ठंडक का अहसास हो रहा है। हालांकि दिन के समय लोगों को गर्मी का अनुभव होता है लेकिन सुबह के समय सर्द माहौल लोगों को ठंडक भरा असहास देता है।

मौसम में आए इस बदलाव के कारण लोगों की सेहत पर भी असर हो रहा है। कुछ लोगों को सर्दी, जुकाम और बुखार की परेशानी होने लगी है। मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि तापमान में अभी और गिरावट हो सकती है। 6 नवंबर के बाद कुछ स्थानों पर वातावरण में कोहरे की परत दे खने को मिल सकती है। वातावरण में ठंडक का असर बढ़ने के साथ लोगों की परेशानियां भी बढ़ सकती हैं इतना ही नहीं छोटे बच्चों को अधिक मुश्किल हो सकती है।

संभावना है कि आने वाले दिनों में कुछ क्षेत्रों में स्कूलों के समय में भी बदलाव हो सकता है। कुछ लोगों ने तो अभी से ही अपने वूलन पूल ओवर, स्वेटर, शाॅल, मफलर आदि निकाल लिए हैं और वे इसे पहन रहे हैं। ठंडक का अहसास दिवाली के कुछ पहले से ही होने लगा था। इस बार दिवाली पर मेरठ में अधिकतम तापमान 28.4 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 13.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह अक्टूबर माह का सबसे कम तापमान रहा। माना जा रहा है कि इस तापमान में और कमी आ सकती है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -