कोरोना के प्रकोप में इस कंपनी ने पेश की मिसाल, बढ़ाया कर्मचारीयों का वेतन

कोरोना के प्रकोप में इस कंपनी ने पेश की मिसाल, बढ़ाया कर्मचारीयों का वेतन

भारत में कोरोना के कहर को नियंत्रित करने के लिए पूरे देश में बुधवार से ही 21 दिन का लॉकडाउन जारी है. ऐसे में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी औद्योगिक और व्यापारिक गतिविधियां बंद हैं. इसके चलते कई कंपनियां काम काज ठप पड़ जाने पर अपने कर्मचारियों की सैलरी भी काट रही हैं और कर्मचारियों की छंटनी करने के लिए और आगे बढ़ रही हैं. इस बीच आईटी कंपनी कॉग्निजेंट ने सबको चौंकाते हुए अपने कर्मचारियों के हित में एक बड़ा फैसला लिया है. कंपनी ने अपने कर्मचारियों को बढ़ी हुई सैलरी देने का निर्णय लिया है.

कमोडिटी ट्रेडिंग में ​हुई कटौती, जाने क्या है नई टाइमिंग

इस मामले को लेकर कॉग्निजेंट ने कहा है कि वह एसोसिएट और उससे निचले स्तर के अपने कर्मचारियों को अप्रैल महीने में बेसिक सैलरी के आधार पर 25 फीसद ज्यादा वेतन देगी. दिग्गज आईटी कंपनी के इस फैसले से भारत में उसके एक लाख 30 हजार कर्मचारियों को भी फायदा पहुंचेगा. पिछले साल दिसंबर महीने के आंकड़े के अनुसार कॉग्निजेंट के कर्मचारियों की संख्या भारत में 2 लाख तीन हजार है. कंपनी ने भारत के साथ ही फिलीपींस के अपने कर्मचारियों के लिए भी यह घोषणा की है.

सोने की वायदा कीमतों में दिखा उतार-चढ़ाव, अंतरराष्ट्रीय बाजार में बढ़त बरकरार

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कंपनी के सीईओ ब्रायन हंफ्रीज ने कहा, 'योजना के अनुसार, कर्मचारियों को अतिरिक्त भुगतान अप्रैल महीने की सैलरी के साथ होगा. कंपनी अपने इस फैसले की मासिक समीक्षा भी करेगी.' हंफ्रीज ने कोरोना वायरस को दुनिया के लिए बड़ा संकट बताया और कहा कि इस संकट के कारण अन्य कंपनियों की तरह उनकी कंपनी भी डिमांड और सप्लाई के मोर्चे पर चुनौतियों से जूझ रही है. वही, हंफ्रीज ने कहा कि कोरोना वायरस के संकट के बीच भी उसके कर्मचारी लोगों के लिए सेवाओं को जारी रखने में निरंतर प्रयासरत है और वे इसकी सराहना करते हैं. उन्होंने कहा कि हमारे कर्मचारी पूरी लगन, ईमानदारी और साहस के साथ इस संकट में भी काम कर रहे हैं. 

कोरोना का खौफ, RBI ने अपने 50 कर्मचारियों को किया क्वारंटाइन

RBI ने किया रेपो रेट घटाने का ऐलान, 5 फीसद की भी विकास दर हासिल करना मुश्किल

EPF के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, निकाल पाएंगे इतनी राशि