जीत पर आया कोच विमल कुमार का बयान, कहा- बैडमिंटन के लिए ’83 विश्व कप जैसा माहौल बनने की उम्मीद

इंडियन मेंस बैडमिंटन टीम के कोच विमल कुमार ने रविवार को उम्मीद जताई कि एतिहासिक थॉमस कप जीत का इस खेल पर वैसा ही प्रभाव हो जैसा 1983 विश्व कप जीत का क्रिकेट के समय हुआ रहा। वर्ल्ड चैंपियनशिप के पदक विजेताओं लक्ष्य सेन और किदांबी श्रीकांत के अलावा सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की दुनिया की 8वें नंबर की जोड़ी ने बैंकॉक में खेले गए फाइनल में 14 बार की चैम्पियन इंडोनेशिया को 3-0 से पटखनी देते हुए यादगार जीत हासिल की है।

विमल कुमार ने ऐतिहासिक जीत पर बोला है कि मेरे पास इसे बयां करने के लिए शब्द कम पड़ गए हैं। हमें हमेशा उम्मीद थी लेकिन जिस तरह से खिलाड़ी खेले, उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया। यह अद्भुत था। हमारा इंडोनेशिया के विरुद्ध  इतना खराब रिकॉर्ड था और 3-0 से जीतना बेहतरीन रहा। 1983 में जब इंडिया ने क्रिकेट विश्व कप जीता था, तो उत्साह 7वें आसमान पर था लेकिन क्रिकेट हमेशा बहुत ही लोकप्रिय खेल था और मैं आशा करता हूं कि बैडमिंटन में अब इस प्रदर्शन से यह खेल भी इतना ही लोकप्रिय हो जाएगा। 

मिलेगी बड़ी ईनामी राशि: बता दें कि भारतीय बैडमिंटन संघ (बीएआई) अध्यक्ष हिमंता बिस्व सरमा ने रविवार को थॉमस कप का खिताब जीत कर इतिहास रचने वाली इंडियन मेंस बैडमिंटन टीम के खिलाड़ियों के लिए एक करोड़ रुपए के पुरस्कार का एलान कर दिया है। उन्होंने साथ ही टीम के सहयोगी स्टाफ के लिए भी 20 लाख रूपये के नकद पुरस्कार का एलान किया है।

ऐतिहासिक जीत पर आया श्रीकांत का बड़ा बयान, कहा- "यह करियर की सर्वश्रेष्ठ उपलब्धि में से एक..."

1000वीं जीत के साथ इटली ओपन के फाइनल में पहुंचे नोवाक जोकोविच

थॉमस कप बैडमिंटन में पहली बार टीम इंडिया ने किया कमाल, लहराया तिरंगा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -