आखिरकार काम आया CM योगी का 'TTT' फॉर्मूला, गोरखपुर में कोरोना मामले की संख्या डिजिट में पहुंची

कभी कई दिनों तक हजार पार की संख्या पर कायम रहा कोविड संक्रमण अब इकाई का आंकड़ा सिमट चुका है। रविवार को गोरखपुर में सिर्फ 8 नए कोविड संक्रमित मिले। इसके साथ ही जिले में अब कुल सक्रिय संक्रमितों की संख्या रविवार तक 372 रह गई थी। ये आंकड़े इस बात की तस्दीक भी हैं कि WHOऔर नीति आयोग से सराहे गए गई योगी गवर्नमेंट के ट्रिपल टी फॉर्मूले ने कोविड की दूसरी लहर को न सिर्फ थाम लिया है बल्कि तीसरी लहर को वक़्त रहते बेअसर करने की तैयारी भी जारी है।

गोरखपुर में मध्य अप्रैल से लेकर मई माह के पहले हफ्ते तक कोविड की दूसरी लहर में संक्रमण की रफ्तार बहुत तेज थी। इस पर काबू पाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर ट्रिपल टी यानी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट के अभियान को गांव-गांव में तेज कर दिया गया है। गांव स्तर पर ही लक्षण वालों को पहचाना जा चुका है, उनकी जांच, मेडिसिन के साथ होम आइसोलेशन व जरूरत पर हॉस्पिटल में भर्ती करने के इंतज़ाम से संक्रमण का फैलाव रोकने में कामयाबी मिली।

ट्रिपल टी अभियान की जमीनी हकीकत जानने मुख्यमंत्री योगी खुद भी फील्ड में उतर पड़े थे। ट्रिपल टी तेज होने का असर यह हुआ जिले में मई के दूसरे सप्ताह से कोविड संक्रमण के दैनिक आंकड़े हजार से सैकड़े में और 28 मई से दहाई में आ चुके है। दैनिक संक्रमण के हिसाब से जिले में पीक 25 अप्रैल को था जब एक ही दिन में 1440 लोगों की कोविड जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। 13 जून को यह ग्राफ 8 पर आ चुका है। यानी संक्रमण के पीक के एक फीसद से भी कम पर। इसी तरह 30 अप्रैल को कुल सक्रिय संक्रमितों का आंकड़ा 10308 के पीक पर थी जो 13 जून को महज 372 रह गई है।

भयानक हादसा: डैम में गिरा 11 हजार वाल्ट का बिजली का तार, महिला समेत 4 बच्चों की हुई मौत

देश का पहला शहर बना बिकानेर, घर-घर जाकर लोगों को लगाई जाएगी वैक्सीन

ममता बनर्जी ने लॉकडाउन में दी ढील, जानिए बंगाल में क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -