सीएम योगी ने दिया कोऑपरेटिव बैंक घोटाले में FIR करने का आदेश, लपेटे में आ सकते हैं अखिलेश

सीएम योगी ने दिया कोऑपरेटिव बैंक घोटाले में FIR करने का आदेश, लपेटे में आ सकते हैं अखिलेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ की भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई जारी है. पूर्व की समाजवादी पार्टी (सपा) की अखिलेश यादव सरकार में कई घोटाले हुए थे. इनकी जांच की मांग कई दिनों से की जा रही थी. शनिवार को उन्होंने सपा अध्यक्षअखिलेश यादव को बड़ा झटका देते हुए उनकी सरकार में हुए बैंक घोटाले की प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दे दिया.

अखिलेश यादव की अगुवाई वाली सपा सरकार के शासनकाल के दौरान हुए बहुचर्चित कोऑपरेटिव बैंक नियुक्ति घोटाले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने दोषी अफसरों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की इजाजत दे दी है. विशेष जांच दल (SIT) अब नियुक्तियों में भ्रष्टाचार के दोषी तत्कालीन दो प्रबंध निदेशकों सहित अन्य के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कर उन पर अपना शिकंजा कसेगा. जांच की आंच खुद अखिलेश यादव तक भी पहुंच सकती है.

योगी सरकार द्वारा गठित की गई SIT ने मामले में बीते दिनों अपनी जांच रिपोर्ट शासन को सौंपी थी और दोषी अधिकारियों के खिलाफ केस  दर्ज किए जाने की अनुशंसा की थी. मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट करते हुए नियुक्तियों में धांधली के इस गंभीर मामले में एफआइआर की स्वीकृति दिए जाने की जानकारी साझा की है. बता दें कि उत्तर प्रदेश कोऑपरेटिव बैंक के सहायक प्रबंधक (सामान्य) और सहायक प्रबंधक (कंप्यूटर) की साल 2015-16 तथा प्रबंधक व सहायक/कैशियर के पदों पर 2016-17 में की गई भर्तियों में भ्रष्टाचार के संगीन आरोप हैं.

दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन को हुआ कोरोना, बोले- जल्द स्वस्थ होकर लौटूंगा

एलडीएफ ने आधिकारिक तौर पर कांग्रेस में मणि के गुट को किया शामिल

फ्री वैक्सीन के वादे पर चौतरफा घिरी भाजपा, अब केजरीवाल ने बोला तीखा हमला