अधिकारियों पर सख्त हुए सीएम योगी, कहा- अगर कोई भी फाइल तीन दिन से ज्यादा रोकी तो...

अधिकारियों पर सख्त हुए सीएम योगी, कहा- अगर कोई भी फाइल तीन दिन से ज्यादा रोकी तो...

लखनऊ: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य के बेसिक शिक्षा विभाग और माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की है. इस बैठक में सीएम योगी ने सख्त लहजे में अधिकारियों को शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के आदेश दिए. सीएम योगी ने कहा है कि अफसर मुख्यालय में बैठने के स्थान पर फील्ड में जाकर सरप्राइज विजिट करें. यही नहीं सीएम योगी ने कहा है कि अगर विभाग में कोई भी फाइल तीन दिन से अधिक रुकी तो उस अधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी.

सीएम योगी ने बच्चों को पाठ्य पुस्तक, बैग और यूनिफॉर्म उपलब्ध कराने में देरी को लेकर अधिकारियों को जमकर लताड़ लगाई और इसे लेकर निर्देश जारी किए. बैठक के बाद डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा है कि शिक्षक पुरस्कार में पारदर्शिता बरतने, ऑनलाइन स्थानांतरण प्रक्रिया को इसी माह ख़त्म करने पर वार्ता हुई है. माध्यमिक शिक्षा विभाग की तक़रीबन 16000 मुकदमे लंबित हैं. उनको एक अभियान चलाकर विधि संगत निस्तारित करने का आदेश जारी किया गया है. नियामक कमेटी जिला स्तर पर है, उसके विस्तार करने पर भी चर्चा हुई.

दिनेश शर्मा की मानें तो, वर्ष भर के लिए एक शैक्षणिक पंचांग के निर्धारण के लिए निर्देश जारी किए जाएंगे, ताकि वक़्त पर शिक्षण कार्य और परीक्षा संपन्न कराई जा सके. विद्यालयों में जहां शिक्षकों की कमी है वहां शिक्षकों की नियुक्ति के लिए तेज गति से कोशिश करने का फैसला लिया गया. साथ ही जो नए विद्यालय खुल रहे हैं या कुछ स्थानों पर पीपीपी मॉडल के आधार पर संचालन हो रहा है, उनके संचालन का भी इंतज़ाम सुनिश्चित की जाए. .

शिवसेना ने मुखपत्र में लिखा, राम मंदिर का विरोध करने वाले हो गए तबाह

नए कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में बीजेपी की कमान संभालेंगे जेपी नड्डा

संसद में शपथ लेने के बाद साइन करना भूले राहुल गाँधी, फिर सांसदों ने दिलाया याद