उत्तरप्रदेश में कई नेता बने कोरोना के शिकार, सीएम योगी ने सख्त लहजे में कही यह बता

उत्तरप्रदेश में कई नेता बने कोरोना के शिकार, सीएम योगी ने सख्त लहजे में कही यह बता

दुनियाभर में कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव में योगी आदित्यनाथ गवर्नमेंट के मंत्री और भारतीय जनता पार्टी व अन्य पार्टियों के एमएलए भी आ रहे हैं. बड़ी तादाद में मंत्रियों तथा एमएलए के कोरोना वायरस की चपेट में आने की वजह से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन सभी को सख्त आर्देश दिया है. सीएम ने मंत्रियों को सावधान करने के साथ सलाह भी नी है कि घर या ऑफिस में भीड़ न जुटाएं. संक्रमित होने के बाद अपने तथा निवास के लोगों के टेस्ट आवश्यक रूप से कराएं.

पाक ने करतारपुर साहिब गुरुद्वारा में भक्तों के लिए लड़वाए टर्फ

महामारी के संक्रमण पर बहुत गंभीर सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने मंत्रियों को कम से कम लोगों के संपर्क में आने के आदेश दिए हैं. उन्होंने मंत्रियों को बताया  है कि वह अपने निवास और ऑफिस में मिलने वालों की भीड़ जमा न करें. इसके साथ ही बहुत आवश्यक होने पर ही वह फील्ड में जाएं. उन्होंने बताया कि मंत्री भी फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें. अपने निवास और ऑफिस को पूरी तरह से सैनिटाइज कराएं.

इस हफ्ते 10 लाख के पार पहुँच जाएगी कोरोना मरीजों की संख्या, राहुल गाँधी का दावा

विदित हो कि राज्य गवर्नमेंट के मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह  चेतन चौहान, उपेंद्र तिवारी उर्फ मोती सिंह, धर्म सिंह सैनी, तथा रघुराज सिंह के कोविड-19 पॉजिटिव निकलने बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी को यह सख्त आदेश दिया है. कैबिनेट मंत्री मोती सिंह की संपूर्ण फैमिली कोरोना संक्रमित हो गई ​थी. जिसके बाद तो लाइन लग गई. आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं. होमगार्ड व राजनैतिक पेंशन मंत्री चेतन चौहान तथा खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उपेंद्र तिवारी के साथ श्रम राज्य मंत्री रघुराज सिंह के कोरोना वायरस से ​ग्रसित होने के बाद उपचार करवा रहे है. 

'नेपाली थे भगवान राम, भारत में मौजूद है नकली अयोध्या'

सोपोर मुठभेड़ में ढेर हुए 3 आतंकी, DIG ने बताया क्या था प्लान

यमन में फिर हुआ हवाई हमला, 10 लोगों की गई जान