कोरोना संकट के बीच सीएम उद्धव ने बचाई अपनी कुर्सी, कैबिनेट मीटिंग में लिया ये फैसला

कोरोना संकट के बीच सीएम उद्धव ने बचाई अपनी कुर्सी, कैबिनेट मीटिंग में लिया ये फैसला

मुंबई: महाराष्ट्र में MLC का चुनाव टलने के बाद राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे को राज्यपाल कोटे से एमएलसी बनाया जाएगा। महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में इसको लेकर प्रस्ताव पास हो गया है। गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी से इस संबंध में अनुरोध किया गया है। बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए एमएलसी चुनाव स्थगित कर दिया गया था। इसके बाद से ही उद्धव की मुख्यमंत्री पद की कुर्सी पर संकट के बादल मंडरा रहे थे। हालांकि अब बादल छंटते दिखाई दे रहे हैं।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि संविधान की धारा 164 (4) के मुताबिक, किसी राज्य के सीएम का 6 महीने के भीतर ही सदन का सदस्य होना अनिवार्य होता है। उद्धव ठाकरे ने 28 नवंबर 2019 को सीएम पद की शपथ ग्रहण की थी। ऐसे में सीएम पद को बनाए रखने के लिए 28 मई से पहले ही उनका विधानमंडल का सदस्य होना अनिवार्य है।

इस पर महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि, 'आज की कैबिनेट बैठक में फैसला लिया गया है कि राज्यपाल द्वारा मनोनीत की जाने वाली दो रिक्त सीटों के लिए सीएम उद्धव ठाकरे के नाम की अनुशंसा की जाएगी। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते राज्य में एमएलसी चुनाव नहीं हो सकते हैं। संवैधानिक संकट को टालने के लिए यह फैसला लिया गया है।'

कोरोना पर सिद्धू का सवाल, कहा- भारत में टेस्ट काम क्यों ? साउथ कोरिया से सीखो

पाक में बढ़ रहा कोरोना का प्रकोप, 24 घंटे में 200 से अधिक लोग संक्रमित

पाक ने भारत पर फिर लगाए आरोप, सार्क देशों में कोरोना के कहर से लड़ने के लिए तैयार नहीं पाकिस्तान