शहीद कर्णवीर सिंह के परिजनों को 1 करोड़ और भाई को नौकरी देंगे CM शिवराज

सतना: जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में आंतकियों से लड़ते-लड़ते वीरगति को प्राप्त हुए सतना के वीर सपूत कर्णवीर का अंतिम संस्‍कार गृह ग्राम दलदल में किया गया। वहीं इस दौरान शहीद कर्णवीर को अंतिम विदाई देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी दलदल गांव पहुंचे. यहाँ उन्होंने जिले के ग्राम दलदल पहुंचकर शहीद कर्णवीर सिंह को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। आप सभी को बता दें कि सतना के शहीद कर्णवीर सिंह का अंतिम संस्कार उनके गृह गांव दलदल में राजकीय एवं सैन्य सम्मान के साथ कर दिया गया।

 

इस दौरान उनके बड़े भाई शक्ति प्रताप सिंह ने मुखाग्नि दी। वहीं दूसरी तरफ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शुक्रवार को 11 बजे शहीद के गांव पहुंच गए थे, और उन्होंने शहीद कर्णवीर सिंह की पार्थिव देह पर पुष्प अर्पित किए। इस दौरान उन्होंने कहा- 'कर्णवीर सिंह ने मध्यप्रदेश ही नहीं पूरे देश का नाम रोशन किया है। उनके परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि तथा शहीद के भाई को शासकीय सेवा में नौकरी दी जाएगी तथा उनकी स्मृति में गांव में एक स्मारक बनाया जाएगा।'

इसी के साथ उन्होंने कहा, 'सतना के ग्राम दलदल के अमर शहीद कर्णवीर सिंह राजपूत ने मां भारती की सेवा करते हुए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है। आज वीर सपूत के गांव पहुंचकर चरणों में श्रद्धांजलि अर्पित की, वे सदैव प्रदेश की 8 करोड़ जनता के दिलों में रहेंगे। प्रदेश और देश को उन पर गर्व है।' इसी के साथ सीएम शिवराज ने कहा- 'शहीदों की चिताओं पर लगेगें हर बरस मेले, वतन पर मरनेवालों का यही बाक़ी निशान होगा. मध्यप्रदेश के सपूत अमर शहीद कर्णवीर सिंह राजपूत को श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं, उनके परिजनों को सम्मान निधि 1 करोड़ प्रदान की जाएगी, भाई को शासकीय सेवा में लेंगे। परिवारजनों से चर्चा कर गांव में अमर शहीद की प्रतिमा स्थापित करेंगे। शासकीय संस्थाएं भी उनके नाम पर होंगी।''

MP: बीच सड़क पर पलटा हाईजैक सरसों के तेल से भरा टैंकर, मची लूट

जवानों की शहादत को सम्मान देने के लिए भारत माता के नारों के साथ निकली बाइक रैली

MP: धीरे-धीरे खत्म हो रहा कोरोना संक्रमण, रिकवरी रेट 98.60 प्रतिशत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -