MP: बैठक में CM ने दिए हाई पॉजिटिविटी वाले जिलों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश

May 03 2021 11:22 AM
MP: बैठक में CM ने दिए हाई पॉजिटिविटी वाले जिलों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश

भोपाल: मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस का कहर तेजी से बढ़ रहा है लेकिन इसके कहर को रोकने के लिए सरकार तमाम कोशिशें भी कर रही है। इन सभी के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना को लेकर लगातार बैठक करनी शुरू कर दी है। बीते कल यानी रविवार को भी सीएम शिवराज ने निवास से कोरोना संक्रमण की रोकथाम और व्यवस्थाओं को लेकर मंत्रीगण एवं वरिष्ठ अधिकारियों सहित कोर ग्रुप के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की हैं।

इस दौरान बैठक में शिवराज ने मंत्रीगण एवं वरिष्ठ अधिकारियों सहित कोर ग्रुप के सदस्यों से कहा, ''कोरोना की चेन ब्रेक करने का एकमात्र तरीका यही है कि जहां संक्रमण है, उसे वहीं रोक दिया जाये। जहां संक्रमण नहीं है, वहां बाहर से आने-जाने वालों को रोकें, गांव गांव, मोहल्ले मोहल्ले में जहां भी संक्रमण हो माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाएं ताकि वहाँ संक्रमण प्रवेश न कर पाये।' इसी के साथ उन्होंने कहा, 'घर-घर सर्वे कर सर्दी, जुकाम, बुखार के मरीजों की पहचान की जाए तथा उन्हें मेडिकल किट देकर इलाज प्रारंभ कराया जाए। प्रारंभ से ही दवाई दिए जाने से मरीज जल्दी स्वस्थ हो जाएंगे। इसके लिए गांवों मैं एवं शहरों में अभियान चलाया जाए।'

इसी के साथ बैठक में सीएम शिवराज ने निर्देश दिये कि ''प्रदेश के हाई पॉजिटिविटी वाले जिलों पर विशेष ध्यान दिया जाये, मध्यप्रदेश के 15 जिलों में 25% से अधिक 7 दिन की औसत पॉजिटिविटी रेट है। टीकमगढ़ की 47%, शिवपुरी की 39%, दतिया की 34%, अनूपपुर की 32%, सिंगरौली की 31% पॉजिटिविटी रेट है।' इसी के साथ उन्होंने कहा, 'होम आइसोलेशन व्यवस्था को परफेक्ट बनायें, जिससे कि मरीज घर पर ही स्वस्थ हो जायें। प्रदेश में वर्तमान में 64218 मरीज होम आइसोलेशन में हैं, इनमें से 13596 ग्रामीण क्षेत्र में तथा 50622 नगरीय क्षेत्र में हैं। मध्यप्रदेश में 320 कोविड केयर सेंटर संचालित हैं, जिनमें 80 सेंटर्स में ऑक्सीजन की व्यवस्था है। इन सेंटर्स में 14362 आइसोलेशन बेड्स तथा 1267 ऑक्सीजन बेड्स उपलब्ध हैं। कोविड केयर सेंटर्स में मरीजों के इलाज के साथ ही उनके भोजन आदि की अच्छी व्यवस्था की गई है।'

देश में कोरोना का कहर जारी, पिछले 24 घंटों में 3,417 की मौत

जम्मू कश्मीर में 31 मई तक के लिए बंद हुए सभी शैक्षणिक संस्थान

DRDO ने की तेलंगाना की मदद, गांधी अस्पताल को दिए 50 ऑक्सीजन सिलेंडर