जंगलराज पर पहली बार नीतीश ने तोड़ी चुप्पी, कहा जंगलराज नहीं कानून राज

जंगलराज पर पहली बार नीतीश ने तोड़ी चुप्पी, कहा जंगलराज नहीं कानून राज

पटना : बिहार में हो रही हत्याओं को लेकर पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। उन्होने कहा कि बिहार में जंगलराज नही बल्कि कानून का राज है और राज्य में कानून व्यवस्था बिल्कुल चाक चौबंद है। उन्होने विपक्ष द्वारा लगाए जा रहे उन आरोपों का भी खंडन किया, जिसमें कहा जा रहा था कि बिहार में जंगलराज लौट आया है।

नीतीश ने कहा कि पुलिस ने पूरे राज्य में संगठित अपराधों के खिलाफ कार्रवाई करना शुरु कर दिया है। किसी भी अपराध को पूरी कानून व्यवस्था से जोड़ देना उचित नही है। सीएम ने यह भी कहा कि हम अपराध में संलिप्त अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। उन्होने कहा कि उनकी सरकार हर हाल में राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखेगी।

नीतीश ने कहा कि देश दुनिया में अपराध होते रहते है, लेकिन जो बात सबसे जरुरी है, वो ये कि उनके खिलाफ कार्रवाई हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं राज्य में किसी ऐसे पुलिस अधिकारी को बर्दाश्त नहीं करुंगा जो अपराध के बारे बताए जाने पर भी अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई न करे। सरकार ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।

इसके अलावा सीएम ने लोगों से भी अपील की है कि यदि उन्हें कोई धमकाए या वसूली की मांग करे तो इसकी जानकारी पुलिस को दें। विपक्षी बीजेपी और उसके सहयोगी आरोप लगा रहे हैं कि नवंबर 2015 में जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस गठबंधन की सरकार के गठन के बाद से बिहार में जगलराज फिर से कायम हो रहा है।