महाकाल मंदिर निर्माण कार्य और सौंदर्यीकरण योजनाओं को लेकर सीएम ने दिए ये निर्देश

उज्जैन: मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने महाकाल मंदिर परिसर विस्तार स्कीम के कार्यों की समीक्षा की। इसके चलते उन्होंने कहा कि आगामी 3 महीने में परिसर विस्तार के कार्य व्यवस्थित तौर पर पूर्ण कर लिए जाए। इन कार्यों के पुरे होने पर लोकार्पण की दिनांक निर्धारित होगी। मंदिर का लोकार्पण पीएम मोदी के हाथों होगा, जिसके लिए मुख्यमंत्री स्वयं दिल्ली जाकर उन्हें न्यौता देंगे। सीएम चौहान ने महाकाल मंदिर परिसर उज्जैन की विस्तार योजना के कार्यों की समीक्षा की। सीएम ने निर्देश दिए हैं कि उज्जैन में कोटि तीर्थ को इस प्रकार विकसित करें कि यहां भव्यता तथा दिव्यता की अनुभूति हो। रुद्रसागर में शुद्ध जल रहे। संपूर्ण इलाका आकर्षक लगे। यहां आवश्यकतानुसार वृक्षारोपण कार्य भी किया जाए। नगर के सौंदर्य में बढ़ोतरी के लिए जरुरी कार्यों को जल्द पूरा किया जाए। अक्षरधाम या ऐसे ही अन्य तीर्थ जगहों की भांति यहां जन आकर्षण बढ़ाया जाए। संपूर्ण क्षेत्र महादेव की महिमा का दर्शन करवाने वाला हो। 

महाकाल मंदिर के अतिरिक्त अन्य जगहों का इस प्रकार विकास हो तथा अन्य गतिविधियां संचालित हों, जिससे भक्त एवं पर्यटक एक दो दिन रुकना चाहें तथा इस यात्रा के पश्चात् पूर्ण आनंद एवं संतोष का भाव लेकर यहां से जाएं। मंत्रालय भोपाल में संपन्न मीटिंग में उज्जैन जिलाधिकारी आशीष सिंह ने प्रजेंटेशन दिया। चीफ सेक्रेटरी इकबाल सिंह एवं सीनियर अफसर मीटिंग में मौजूद थे। वही महाकाल मंदिर परिसर में प्रथम एवं द्वितीय चरण में मिलाकर प्रदेश सरकार की तरफ से 425 करोड़ रुपये की रकम तमाम कार्यों पर खर्च की जा रही है। वहीं भारत सरकार द्वारा 230 करोड़ की राशि व्यय हो रही है। इन कार्यों के पुरे होने के पश्चात् उज्जैन में महाकाल मंदिर परिसर तथा अन्य जगहों पर खास सुविधाओं का विकास होगा। मंदिर परिसर विस्तार का पूरा कार्य आने वाले सिंहस्थ- 2028 की दृष्टि से भी काफी अहम है।

मंदिर परिसर निर्माण से जुड़े सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रमुख निर्देश दिए हैं:- 
* सिंहस्थ की दृष्टि से जरुरी कार्य हों। सभी कार्य गुणवत्ता पूर्ण हों।
* रुद्रसागर का जल शुद्ध रहे।
* कोटि तीर्थ का विकास हो। दिव्यता तथा भव्यता की अनुभूति हो।
* पर्यटकों तथा भक्तों के लिए जरुरी सुविधाएं लगातार बढ़ाई जाएं। 
* प्रतीक्षालय एवं पार्किंग स्थल सुविधाजनक हो।
* हेरिटेज धर्मशाला का कार्य भी गुणवत्ता पूर्ण हो।
* पैदल पुल तथा अन्य कार्यों को वक़्त पर पूरा करें ।
* लाइट एंड साउंड शो आकर्षक हो ।
* महाकाल दर्शन के बाद भक्त एवं पर्यटक अन्य जगहों के दर्शन के लिए एक या दो दिन रुकें, ऐसे इंतजाम हों।
* सांदीपनि आश्रम ,काल भैरव तथा अन्य मंदिरों पर जरुरी सुविधाएं  हों।
* रामघाट के सौंदर्यीकरण के कार्य पूर्ण किए जाएं।
* महाशिवरात्रि पर दीपकों से घरों को जगमगाएं। इसमें जन हिस्सेदारी सुनिश्चित करें।
* पहले चरण के कार्यों की पूर्णता के बाद द्वितीय चरण के कार्यों को पूरा करने का कार्य रफ़्तार से हो
* सिंहस्थ 2028 को ध्यान में रखते हुए स्थायी महत्व के काम भी किए जाएं।

पाकिस्तान का 'वर्ल्ड कप' अभियान ख़त्म, सेमीफइनल में बांग्लादेश से भिड़ेगी टीम इंडिया

वुमन एशिया कप हॉकी में इंडियन टीम ने अपने नाम किया कस्य पदक

कोरोना से जान गंवाने वालो मरीजों के आँकड़े ने बढ़ाई परेशानी, 24 घंटों में सामने आया भयावह आंकड़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -