मॉब लिंचिंग के पीछे विदेशी ताकतें-बिप्लब देब

मॉब लिंचिंग के पीछे विदेशी ताकतें-बिप्लब देब

अपने बयानों के कारण कम समय में ही दिल्ली में बीजेपी हाई कमान द्वारा तलब कर लिए जाने के बाद बड़े दिनों बाद त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब ने एक ताजा बयान दिया है. मगर लगता है विप्लब का अंदाज नहीं बदलेगा. अब मॉब लिंचिंग की वारदातों को अंतरराष्ट्रीय षड्यंत्र करार देने वाले सीएम विप्लब देव ने कहा है कि ये घटनाएं राज्य सरकार के खिलाफ काम करने वाली ताकतों द्वारा निर्देशित एक सोची समझी रणनीति है.

मॉब लिंचिग की वारदातों के पीछे अंतरराष्ट्रीय षड्यंत्र करार देते हुए कहा है कि त्रिपुरा में अब इस तरह की घटनाओं पर लगाम लग गई है. बिप्लब देब का कहना है कि उनकी सरकार नें भीड़ द्वारा हिंसा के शिकार परिवार को 5 लाख मुआवजा देने की घोषणा की है और ऐसे समय में जब हम सरकार में हैं तब हमें पीड़ित परिवार के साथ खड़ा होना चाहिए.


बिप्लब देब का कहना है कि तमिलनाडु, कर्नाटक, मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों में मॉब लिंचिंग की घटनाएं हो रहीं है. लिहाज़ा इसके कोई बड़ी साजिश है जिससे राज्य सरकारों के सामने नई तरह की समस्याएं खड़ी की जा सके. बिप्लब देब का कहना है कि ऐसा कई लोगों का मानना है कि इस तरह की घटनाओं में शामिल लोगो के पीछे विदेशी ताकतों का हाथ है.सरकार ने इन्हे रोकने के लिए सोशल साइट्स को अपनी जिम्मेदारी समझने की हिदायत दी है.

त्रिपुरा: पत्रकारों की हत्या में बीजेपी की सहयोगी पार्टी के नेता शामिल

फिर हुआ बेख़ौफ़ पत्रकारिता पर हमला

आपस में बात करती हैं इस मंदिर की मूर्तियां

 

?