सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री से खफा हैं CJI, कहा- आज तो नहीं, लेकिन विदाई के दिन करूँगा बड़ा खुलासा

नई दिल्ली: सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश (CJI) एन वी रामन्ना अपनी ही रजिस्ट्री विभाग से खफा हैं। अब उन्होंने तीखी टिप्पणी करते हुए कहा है कि अभी तो कुछ बोलना सही नहीं होगा, मगर जिस दिन उनकी विदाई (Retirement) होगी, उस दिन वो अवश्य बोलेंगे। अब सवाल यह है कि आखिर ऐसा क्या हो गया कि देश के प्रधान न्यायाधीश को ऐसी बात कहनी पड़ी। 

दरअसल, CJI ही मास्टर ऑफ रोस्टर होते हैं। मुकदमों की लिस्टिंग को लेकर भी CJI ने बेबसी का उल्लेख किया। दरअसल बुधवार को सुनवाई के लिए एक मामला लिस्टेड था, मगर रजिस्ट्री ने उस मामले को हटा दिया था। एक वकील ने CJI से कहा कि उनका मामला सुनवाई के लिए लिस्टेड था, मगर पता चला की उसे सूची से हटा दिया गया है। वकील ने कहा कि इस प्रकार मामलों को हटाए जाने से समस्या होती है। उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह ऐसा ही एक मामला सामने आया था, जिसमें न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ ने रजिस्ट्री के अधिकारियों से जवाब तलब किया था कि जब मामला पहले से सूचीबद्ध था, तो उसे क्यों हटाया गया। 

वहीं, इससे पहले एक और CJI ने अपनी नाराजगी प्रकट करते हुए रजिस्ट्री के अधिकारियों को अदालत में बैठा लिया था और कहा कि वो लोग खुद सुनें कि वकील किस प्रकार की परेशानी का सामना करने के साथ शिकायत करते हैं। आपको बता दें कि, रजिस्ट्री से जुड़े कुछ रोचक किस्से भी हैं। जैसे, एक जज को अपने अर्दली की फटी हुई टोपी को बदलवाने के लिए काफी जद्दोहजद करनी पड़ी। जज ने अपने अर्दली से पूछा था कि आखिर टोपी बदलवाने में क्या समस्या आ रही है, तो अर्दली का जवाब था कि उसकी ओर से कई बार कोशिश की गई। मगर कोई परिणाम नहीं निकला। 

भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर उग्रवादियों और BSF के बीच मुठभेड़, एक भारतीय जवान शहीद

कोरोना, मंकिपॉक्स के बाद Tomato Flu ने बढ़ाई टेंशन, 5 साल से छोटे 82 बच्चे संक्रमित

नदी किनारे मिले मुग़लकालीन सोने के सिक्के, लगी भीड़, सूचना मिलते ही पुलिस भी पहुंची

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -