मुसीबत में सहयोगी बना चर्च

नई दिल्ली : बैंक में केश ट्रांजिक्शन के लिए लोगों की कतारें लगी हुई हैं, लोग नए नोट जुगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं तो दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे हैं जो अभी भी प्रयास में हैं कि आखिर कालेधन को किसके अकाउंट के माध्यम से ठिकाने लगाया जाए। मगर इसी बीच कुछ भले लोग भी सामने आए हैं जो बैंक्स की कतार में लगे लोगों को पानी पिला रहे हैं तो कोई और सुविधा देने का प्रयास कर रहा है।

हालांकि कुछ बातें ऐसी भी सामने आ रही हैं जिसमें कहा जा रहा है कि मंदिर की दान पेटी में बड़े पैमाने पर लोगों ने दान किया है लेकिन इसके इतर एक चर्च ने अपना दान पात्र लोगों के लिए खोल दिया है। जी हां, केरल में एक चर्च ने अपनी दान पेटी लोगों के उपयोग के लिए खोल दी है।

दरअसल चर्च की इस दान पेटी में खुल्ले पैसे हैं जिन लोगों को इसकी आवश्यकता है वे यहां पर आकर कैश ले जा सकते हैं इतना ही नहीं दान पेटी खोले जाने को लेकर चर्च के पादरी ने कहा है कि जिन लोगों को इसकी आवश्यकता है वे यहां से आकर कैश ले जा सकते हैं। यदि उन्हें लगता है कि बाद में उन्हें पैसा वापस करना है तो फिर वे वापस भी कर सकते हैं।

गौरतलब है कि 500 रूपए और 1000 रूपए के नोट्स के बंद हो जाने से लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था। हालांकि केंद्र सरकार ने अपनी व्यवस्था में बदलाव किया जिसके बाद अब लोगों को सुविधा हो रही है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -