Merry Christmas : कैरोल गाकर किया रतजगा, मध्यरात्रि में जन्मे यीशु

नई दिल्ली : प्रभु यीशु के जन्मदिवस के अवसर पर भारत सहित विश्वभर में क्रिसमस पर्व शानदार तरीके से मनाया जा रहा है। जहां क्रिसमस के एक दिन पहले से ही ईसाई समुदाय के अनुयायियों ने एक दूसरे के घर जाकर कैरोल गाए वहीं रात्रि में विभिन्न चर्चों में प्रार्थनाओं का आयोजन हुआ। इस दौरान चर्चों में घंटे बज उठे। मध्यरात्रि में पवित्र अग्नि जलाई गई और चर्चों में बिशप और फादर्स ने प्रभु यीशु का जन्मोत्सव अनुयायियों के साथ मनाया। रात से ही सभी एक दूसरे को हैप्पी क्रिसमस और मेरी क्रिसमस कह रहे थे।

इस तरह से शुभकामनाओं का सिलसिला चल पड़ा। देश के अन्य शहरों में भी लोगों द्वारा क्रिसमस ट्री सजाया गया। सांता क्लाॅज वहां मौजूद लोगों को उपहार दे रहे थे। विशेषकर वे बच्चों को टाॅफियां बांट रहे थे। वे जीवन में देने का सुख हासिल करने का संदेश भी दे रहे थे। क्रिसमस का उल्लास मुंबई, गोवा, कोलकाता, आलीराजपुर, केरल आदि क्षेत्रों में अधिक रहा। गोवा में भारत के सबसे बड़े चर्च सी कैथेड्रल में क्रिसमस के अवसर पर विशेष आयोजन हो रहे हैं।

वेटिकन सिटी में मिडनाइट मास का आयोजन भी हुआ। इस हेतु हजारों की संख्या में चर्च में लोग एकत्रित हुए लोगों ने विशेष प्रार्थनाऐं कीं। पोप फ्रांसिस ने बेबी जीजस की मूर्ति को चूमकर अपने संदेश में लोगों को सादगी से रहने की अपील की।

इजरायल में क्रिसमस परेड का आयोजन हुआ। नजारथ ईसाई धर्म में महत्वपूर्ण है। यह भी माना जा रहा है कि ईश्वर की मां को यह ज्ञात हुआ था कि उन्हें देवपुत्र होगा। जीजस का पालन - पोषण यहीं पर हुआ था।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -