वर्कफोर्स में महिलाओं की बढ़ोतरी से GDP में 27 फीसदी का इजाफा

वर्कफोर्स में महिलाओं की संख्या बढ़ाये जाने को लेकर हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष की प्रमुख क्रिस्टीन लेगार्द ने अपना पक्ष रखा है. क्रिस्टीन का कहना है कि यदि वर्कफोर्स में महिलाओं की संख्या को बढ़ा दिया जाता है तो इससे GDP में बढ़ोतरी हो सकती है और इस बढ़ोतरी को लेकर ही उन्होंने ने यह भी कहा है कि यदि महिलाओं की यह संख्या पुरुषो के बराबर कर दी जाती है तो जहाँ अमेरिका के GDP में 5 प्रतिशत, जापान के GDP में 9 प्रतिशत तो वहीँ भारत के GDP में 27 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो सकती है.

इन आंकड़ों के तहत यदि देखा जाये तो भारत को इससे सबसे ज्यादा फायदा हो सकता है. क्रिस्टीन का यह भी कहना है कि यह कोई सोचने वाली बात नहीं है कि महिला सशक्तिकरण से आर्थिक वृद्धि को बल मिलता है. GDP को लेकर उन्होंने यह भी कहा है कि यह एक अनुमान लगाया गया है और इसपर गौर किया जाना चाहिए. साथ ही क्रिस्टीन ने इस मामले को आगे जारी रखते हुए यह भी कहा है कि यदि ऐसा किया जाता है तो यह भी अनुमान लगाया जा सकता है कि इससे 10 करोड़ नए रोजगार के अवसर भी मिल सकेंगे.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -