चीनी अख़बार ने गुजरात के विकास माॅडल पर उठाए सवालिया निशान

Sep 03 2015 04:07 PM
चीनी अख़बार ने गुजरात के विकास माॅडल पर उठाए सवालिया निशान

बीजिंग : चीन के एक दैनिक अखबार ने गुजरात के विकासीय माॅडल पर सवाल उठाए हैं। दरअसल यहां के एक सरकारी अखबार ने गुजरात में पटेल आरक्षण को लेकर हुई हिंसा पर चर्चा करते हुए इस तरह के प्रश्न खड़े किए हैं। प्रश्न उठाते हुए कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विकसित किया गया गुजरात माॅडल यदि अच्छा था तो फिर पटेल आरक्षण आंदोलन ने हिंसक रूप क्यों ले लिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोर - शोर से गुजरात के विकास माॅडल का डंका बजाया लेकिन हिंसा और उनके विकास माॅडल पर प्रश्न उठाए गए।

 दरअसल इसे चीन की एक कूटनीतिक चाल भी माना जा रहा है। जिससे यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केंद्रीय नेतृत्व को कमजोर करना चाहता हो। कहा गया कि यदि गुजरात का माॅडल पूरी तरह से सही होता तो फिर यहां हिंसा क्यों हुई। यहां होने वाली हिंसा गुजरात विकास के माॅडल पर सवाल खड़े करती है। जिस तरह से पटेल आंदोलन के बाद राज्य के कई क्षेत्रों में कफ्र्यु लगा दिया गया जनजीवन अस्त-व्यस्त हुआ, बाजार प्रभावित हुआ यह विकास के माॅडल को प्रभावित करता है। इन ट्रेनों को रद्द कर दिया गया दूसरी ओर कई ट्रेनों का रास्ता बदल दिया गया। इन सबसे विकास प्रभावित हुआ है। ऐसे में गुजरात का विकास माडल यहां भी पूरी तरह से सफल नहीं हो पाया है।