चीन की चाल ने बढ़ाई भारत की चिंता, नेपाल के साथ किया ये समझौता

Oct 22 2019 04:31 PM
चीन की चाल ने बढ़ाई भारत की चिंता, नेपाल के साथ किया ये समझौता

जयपुर: भारत और नेपाल के बीच बढ़ रहे संबंधों को देखते हुए अब चीन ने अब एक नया पैंतरा चला है। हालांकि, नेपाल पर अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए चीन गत कुछ वर्षों से लगातार प्रयास करता आ रहा है और अब इसके चलते चीन ने इस दिशा में एक और कदम बढ़ाया है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक,  बताया गया है कि चीन अब नेपाल को आपदा राहत सामग्री के नाम पर अगले तीन वर्षों में 2.1 करोड़ डॉलर या करीब 148 करोड़ रुपये की वित्तीय मदद देना वाला है।

नेपाल सरकार ने भी इस बात की पुष्टि की है और बताया है कि नेपाल के रक्षा मंत्री इस समय चीन के दौरे पर गए हुए है और इसी दौरान उन्होंने और चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंग्हे ने आपदा राहत सामग्री को लेकर समझौते पर दस्तखत किया जा चुका है। नेपाल के रक्षा मंत्रालय के अधिकारी संता बहादुर ने बताया है कि अगले तीन वर्षों तक सेना की आवश्यकताओं के हिसाब से उन्हें चीन की मदद पहुंचाई जाती रहेंगी।

सूत्रों ने बताया है कि चीन ने नेपाल में अपना वर्चस्व बढ़ाने के लिए राहत सामग्री के नाम पर बड़ा भारी निवेश किया है जो कि भारत के लिए चिंता का सबब बन सकता है। हाल में भारत के दौरे पर आने के बाद चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, नेपाल यात्रा पर भी गए थे और पिछले दो दशकों में चीन के किसी राष्ट्रपति की नेपाल में यह पहला दौरा था। राष्ट्रपति शी जिनपिंग की नेपाल यात्रा के दौरान दोनों देशों में कई समझौते भी हुए थे।

यूरोपियन ओपनः चोट से उबरने के बाद एंडी मरे ने जीता एटीपी खिताब

वित्त मंत्री ने कहा, निवेश के लिए नई नीति बनाएगी सरकार

अपराध के मामले में सबसे आगे यूपी, प्रियंका बोलीं - मुख्यमंत्री जी क्या ये आंकड़ा गंभीर नहीं