चीन की नज़र हिन्द महासागर पर, भारत ने कहा तैयार हैं हम

Dec 02 2017 09:53 PM
चीन की नज़र हिन्द महासागर पर, भारत ने कहा तैयार हैं हम

पाकिस्तान से बढ़ती नज़दीकियों का फायदा उठाते हुए चीन ग्वादर बंदरगाह पर व्यापारिक ठिकाना बनाने की तैयारी कर रहा है. ग्वादर बंदरगाह पाकिस्तान के बलूचिस्तान में है, और चीन आगे जा कर इसे सैन्य ठिकाने के रूप में इस्तेमाल कर सकता है. ऐसे में भारत की तैयारियों के बारे में चीफ ऑफ स्टाफ एडमिरल सुनील लाम्बा ने कहाँ की भारत हिंद-महासागर की सीमाओं पर पैनी नज़र रखे हुए है, ओर किसी भी स्थिति से निपटने में सक्षम है. साथ ही लम्बा ने ये भी कहाँ की अभी भारत के पास 139 जहाज और पनडुब्बियां है, जो आने वाले दशक में 200 के करीब होंगे.

भारत और अमरीका के बढ़ते रिश्तो और मेक इन इंडिया के कारण भारती सैन्य शक्ति अगले दशक में और ज्यादा मजबूत होगी. देश में चल रहे 30 प्रोजेक्ट जो सेना को ओर ताकतवर बनाने वाले जहाज, पनडुब्बियां, और विमान पोत से जुड़े है जल्द ही पुरे कर लिए जायेंगे. सेना प्रमुख सुनील लाम्बा ने भारत की और से किसी भी स्तर की जवाबी कार्यवाही में कोताही न बरतने की बात कही, और चीन से हिंदमहासागर की सीमाओं पर हर तरह ने मुँह तोड़ जवाब देने की बात कही.

चीन और पाकिस्तान लगातार पानी के रास्ते आपसी समझौते कर एक दूसरे के साथ मिल भारत को व्यापारिक नुकसान पहुंचने की साजिश कर रहे है. ऐसे में सुरक्षा एजेंसियों और सेना का सावधान होना लाज़मी है.

 

यहाँ क्लिक करे 

मुफ्त दवा का दाम चुकाते है गरीब

चाबहार से मजबूत होगी भारत-ईरान दोस्ती

हिंद महासागर के खतरों के लिए बनेगी एटमी पनडुब्बियां

तिब्बती भिक्षु ने खुद को आग लगाई