चीनी दूतावास का दावा, कजाकिस्‍तान में है कोरोना से जानलेवा निमोनिया

Jul 10 2020 11:30 PM
चीनी दूतावास का दावा, कजाकिस्‍तान में है कोरोना से जानलेवा निमोनिया

पहले ही पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कारण संकट में है. इसी बीच कोरोना वायरस संक्रमण से जूझ रही दुनिया को चीन ने चेतावनी दी है, कि कोरोना से भी ज्‍यादा जानलेवा निमोनिया कजाकिस्‍तान में फैल रहा है. जो कोरोना से भी खतरनाक है. कजाकिस्तान में स्थित चीनी दूतावास का कहना है, कि यदि ये दुनियाभर में फैल गया, तो तबाही आ जाएगी. हालांकि, चीन के इस दावे को कजाकिस्‍तान ने झूठा करार दिया है. कजाकिस्‍तान ने अपने बयान में स्पष्ट रूप से कहा है, कि चीनी दूतावास की न्‍यूज फेक है. तथा इसमें कोई सच्चाई नहीं है.

तत्पश्चात, चीन ने कजाकिस्‍तान में रह रहे अपने नागरिकों के लिए एक एडवाइजरी जारी कर दी है. दूतावास ने कहा, 'कजास्तिान में फैल रही इस बीमारी से मृत्युदर कोरोना वायरस से भी बहुत अधिक है. देश का स्वास्थ्य विभाग निमोनिया वायरस पर रिसर्च कर रहा है, लेकिन वायरस को पहचान नहीं पाया है.' चीन ने अपने आधिकारी वीचैट अकाउंट पर बताया कि अत्रायु, अकटोबी और शिमकेंट में मध्य-जून के बाद से मामलों में बढ़ोतरी हुई है.

आगे बताते हुए चीनी दूतावास ने कहा, की 'कजाकिस्तान में अज्ञात निमोनिया से साल के पहले छह महीनों में 1,772 लोगों की मौत हुई, जिसमें जून में मरने वालो की संख्या 628 हैं.' हालांकि, अभी चीन की ओर से यह संकेत नहीं दिया गया है कि यह बीमारी कोरोना वायरस से संबंधित है या नहीं. इस दौरान कुछ चीनी विशेषज्ञों ने कहा, कि निमोनिया को चीन में फैलने से रोकने के लिए जल्दी ही सख्त निर्णय लेना आवश्यक है. कजाकिस्तान की सीमाएँ चीन के उत्तर-पश्चिमी शिनजियांग उइगर स्वायत्त क्षेत्र में हैं. अभी इस निमोनिया के बारे में कजाकिस्‍तान ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. फिलहाल कजाकिस्‍तान ने इसे फेक कहकर बात खत्म कर दी है.

कब-कैसे और कहाँ से आया 'कोरोना' वायरस ? जांच के लिए बीजिंग पहुंची WHO की टीम

उइगर मुस्लिमों के उत्पीड़न को लेकर अमेरिका का बड़ा एक्शन, 4 चीनी अधिकारियों पर लगाया प्रतिबंध

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज टॉम मूडी बोले- 2019 वर्ल्ड कप के लिए 12 महीने पहले से तैयार था भारत, लेकिन.....