भारत से अपने नागरिकों को निकालने की कवायद में चीन. इस कारण से लिया फैसला

नई दिल्ली: भारत में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच अब चीन अपने नागरिकों को निकालने की कोशिश कर रहा है. नई दिल्ली स्थित चीन दूतावास ने भारत में मौजूद चीनी छात्रों, कारोबारियों और पर्यटकों के वापस लौटने के लिए पंजीयन की कोशिश शुरु की है. चीनी दूतावास ने सोमवार को अपनी वेबसाइट पर नोटिस चस्पा किया है जिसमें कहा गया है कि जो लोग घर वापस आना चाहते हैं, वे स्पेशल फ्लाइट में टिकट बुक कराएं.

बता दें कि भारत में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और रोगियों की संख्या लगभग 1.40 लाख होने वाली है. ऐसे में चीन ने अपने नागरिकों को यहां से वापस बुलाने का निर्णय लिया है. बता दें कि दिसंबर में चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस की शुरुआत हुई थी. पूरी दुनिया में इस वायरस से 54 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 3.4 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. भारत ने फरवरी में वुहान से लगभग 700 भारतीयों को निकाला था.

चीनी दूतावास के नोटिस में कहा गया है कि घर लौटना चाह रहे लोगों को उड़ान के दौरान और चीन में प्रवेश के बाद पृथकवास और महामारी रोकथाम संबंधी सभी नियमों का पालन करना होगा. मंदारिन भाषा में प्रकाशित किए गए नोटिस में कहा गया है कि पिछले 14 दिन में कोरोना वायरस का उपचार कराने वाले या बुखार और खांसी जैसे संक्रमण के लक्षण रखने वालों को विशेष उड़ानों में सफर नहीं करनी चाहिए. इसमें कहा गया है कि यात्रा के टिकट और चीन में आइसोलेशन में रहने का खर्च नागरिक को वहन करना होगा.

दो महीने बाद शुरू हुई उड़ानें, कई फ्लाइट्स हुई कैंसिल, परेशान हुए यात्री

क्या श्रम कानूनों में बदलाव ला पाएंगी उघोग जगत में गति ?

देश में नौकरी को लेकर इतने प्रतिशत लोग भटक रहे बेरोजगार

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -