भारत का सख्त रवैया देखकर चीन ने बदले सुर, कहा- बॉर्डर पर चाहते हैं शांति

बीजिंग: भारत और चीन सैनिकों के बीच भिड़ंत को लेकर चीन ने अपनी नरम प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सरहद पर उसके सैनिक शांति और धैर्य बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने हाल ही में सैनिकों के बीच हुई झड़प के सम्बन्ध में कहा कि दोनों देशों को अपने मतभेदों को सही तरीके से सुलझाना चाहिए.

उन्होंने कहा कि, 'चीनी बॉर्डर पर तैनात हमारे सैनिक बॉर्डर पर शांति और धैर्य रखते हैं. सरहदी मामलों को लेकर भारत और चीन वर्तमान व्यवस्था को लेकर आपस में संवाद और समन्वय करते हैं.' कोरोना वायरस महामारी के बाद चीन के आक्रामक रुख को लेकर पूछे जाने पर झाओ ने कहा कि, 'संबंधित अवधारणा बेबुनियाद है.' उन्होंने कहा कि, 'भारत और चीन के राजनयिक संबंधों का यह 70वां वर्ष है. दोनों ही देशों ने कोरोना महामारी से एकजुट होकर लड़ने का फैसला लिया है.'

उन्होंने आगे कहा कि, 'इन हालातों में दोनों पक्षों को एकजुट होकर काम करना चाहिए और मतभेदों का सही तरीके से हल करना चाहिए. सीमा पर शांति और स्थिरता कायम करनी चाहिए. ताकि हम द्विपक्षीय संबंधों के लिए अनुकूल माहौल बनाने के साथ ही कोरोना महामारी  के खिलाफ भी एक साथ लड़ाई कर सकें'.

कोरोना संकट में UAE की मदद करने दुबई पहुंची भारतीय नर्सें, हुआ भव्य स्वागत

महिला पत्रकार के साथ डोनाल्ड ट्रम्प की तीखी बहस, बीच में ही छोड़ गए प्रेस वार्ता

आज धरती के पास से गुजरेगा विशालकाय एस्टेरोइड, NASA ने किया सतर्क

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -