कोरोना: चीन की दो टूक- अमेरिका के किसी मुक़दमे को स्वीकार नहीं करेंगे, ना ही मुआवज़ा देंगे

कोरोना: चीन की दो टूक- अमेरिका के किसी मुक़दमे को स्वीकार नहीं करेंगे, ना ही मुआवज़ा देंगे

बीजिंग: चीन ने गुरुवार को कहा कि वह किसी भी 'अनुचित मुकदमे' को स्वीकार नहीं करेगा और न ही वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने को लेकर संयुक्त राज्य अमेरिका (US) के मुआवजे की मांग को मानेगा. चीन ने चेतावनी दी कि यदि अमेरिका घातक वायरस के प्रसार के लिए चीन को दोषी बताते हुए कोई कानून पास करता है या कानूनी मुकदमा करता है तो इसके खिलाफ जवाबी कार्रवाई की जाएगी.

चीन की संसद के प्रवक्ता झांग येसुई ने शुक्रवार के वार्षिक सत्र से पूर्व मीडिया को सम्बोधित करते हुए कहा कि ये आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद हैं और अंतरराष्ट्रीय कानून और बुनियादी मानदंडों के विरुद्ध हैं. उन्होंने कहा कि,'अपनी समस्याओं से ध्यान हटाने के लिए दूसरों को दोषी बताने का प्रयास करना कोई जिम्मेदारी वाली बात नहीं है. और न ही ये नैतिकता है. हम चीन के लिए किसी भी अनुचित मुकदमे या मुआवजे की मांग को स्वीकार नहीं करेंगे.'

झांग ने कहा कि कोरोना वायरस की शुरुआत के बाद से ही इस बीमारी पर काबू पाने के लिए चीन ने एक बेहद मुश्किल लड़ाई लड़ी और काफ़ी कुछ खोया है. झांग ने आगे कहा कि हालिया रिपोर्ट बताती हैं कि कोरोना महामारी दुनिया के विभिन्न हिस्सों में उत्पन्न हुआ और प्रारंभिक मामले पकड़ में आए और उसके बाद बीमारी वक़्त के साथ बढ़ती गई.  

तूतीकोरिन इनसे को दो साल पूरे, कमल हासन ने सरकार पर बोला हमला

चेक पोस्ट पर तैनात जवान ने किया महिला का रेप!

इस तारीख को रिलीज होगी क्रिस्टोफर नोलान की फिल्म 'टेनेट'