पीएम मोदी की जीत या हार, आखिर क्या चाहती है चीन सरकार