अमेरिकी राजदूत की अरुणाचल यात्रा असामान्य नहीं

नई दिल्ली : अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा की अरुणाचल प्रदेश की हाल ही में की गई यात्रा पर चीन द्वारा आपत्ति किये जाने पर भारत ने कहा है कि एक ऐसे राज्य की उनकी यात्रा के बारे में कुछ भी असामान्य नहीं है जो देश का अभिन्न हिस्सा है. इस बारे में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने सोमवार को  कहा कि अमेरिकी राजदूत ने अरुणाचल प्रदेश का दौरा किया, जो देश का अभिन्न हिस्सा है जिसके लिए उन्हें मान्यता प्राप्त है.

बता दें कि अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा कीअरुणाचल प्रदेश की यात्रा पर आपत्ति लेते हुए चीन ने कहा कि वह इसके सख्त खिलाफ है और चीन-भारत सीमा विवाद में अमेरिका का कोई भी हस्तक्षेप इस विषय को और अधिक पेचीदा बनाएगा जो अंततः शान्ति में खलल डालेगा.

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने अमेरिका से भारत-चीन सीमा विवाद में हस्तक्षेप करने से बचने की सलाह देते हुए कहा कि हमने इस बात पर भी गौर किया कि वरिष्ठ अमेरिकी राजनयिक अधिकारी ने जिस स्थान का दौरा किया वह चीन और भारत के बीच विवादित क्षेत्र है. हम उनकी यात्रा के सख्त खिलाफ हैं. अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के न्योते पर वर्मा ने 22 अक्टूबर को तवांग यात्रा की थी. बता दें कि चीन अरूणाचल प्रदेश को दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा होने का दावा करता है.

रिचर्ड की भारत यात्रा से भन्नाया चीन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -