चीनी विजय दिवस परेड में परिंदों की खलल रोकेंगे बंदर और बाज

बीजिंग: चीन से खबर आ रही है की वहां पर अब वायु क्षेत्र की सुरक्षा के मद्देनजर चीनी सैनिक अब चीलों व बंदरों को जबरदस्त रूप से प्रशिक्षित कर रहे है सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चीन द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति की 70वीं वर्षगांठ पर सैन्य परेड के लिए ऐसा कर रहा है. चीन के विश्वसनीय अधिकारियो का कहना है की गुरुवार को वर्षगांठ में सैन्य परेड से पूर्व यह प्रशिक्षित बंदर वहां के पेड़ों पर से सभी घोसलों को हटा देंगे व उड़ती हुई प्रशिक्षित चीले वायु क्षेत्र में घुसने से दूसरे पक्षियों को रोकने का काम करेगी. माना जा रहा है की बीजिंग में होने वाली इस परेड में चीन अपनी वायु शक्ति का जबरदस्त रूप से प्रदर्शन करेगा.चीनी अधिकारी वैंग मिंग्झी ने अपने बयान में कहा की यह जगह पक्षियों के आवागमन की प्रमुख जगह है व इस क्षेत्र में करीब चार सौ से पांच सौ पक्षी विचरण करते है. 

जो की चीनी वायु सैनिकों की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा साबित हो सकते है. इनके घोसलों को हटाने के लिए ऊँचे-ऊँचे पेड़ों पर चढ़ना काफी मुश्किल होता है व गोलिया चलाकर भी सिर्फ एक दो घोंसले ही नष्ट किये जा सकते है. इसमें प्रत्येक अधिकारी के पास पांच बंदर होंगे जो की पुरे दिनभर में करीब 60 घोंसलों को हटा देंगे. इस दौरान वहां इस परेड के तहत कबूतरों को उड़ाने पर पाबंदी रहेगी. व इस परेड में करीब तीस विश्व नेता शरीक होंगे. 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -