चीनी मीडिया का कहना, PM Modi के मजबूत होने से हो सकता है असहमति का अभाव

बीजिंग। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर वैश्विक मीडिया में भी चर्चाऐं चल रही हैं। विशेषकर चीन के मीडिया में पीएम मोदी की सराहना की जा रही है। उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी की जीत को एक बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है। चीनी मीडिया में कहा गया है कि भाजपा को जो जीत मिली है वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता की पुष्टि कर रही है। मगर पार्टी में उनकी पकड़ बढ़ने से पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं असहमति का अभाव होने की संभावना भी जताई गई है।

नोटबंदी को लेकर पार्टी में राजनीतिक विमर्श कम किया गया। इस दौरान कई तरह की नीतियां लागू की गईं। ग्लोबल टाईम्स में एक आलेख में यह दर्शाया गया कि पीएम मोदी भारत की विभिन्न परेशानियों का बेहतरीन समाधान दे सकते हैं। उत्तरप्रदेश चुनाव के बाद ग्लोबल टाईम्स में इस तरह का आलेख दूसरा है।

इतना ही नहीं वर्ष 2019 में सत्ता में वापसी की पीएम मोदी की संभावना बढ़ चुकी है। यह कहा गया है कि भाजपा में पीएम मोदी को जो छूट मिली है उससे कुछ कार्यकर्ता असहमत रह सकते हैं। समाचार पत्र ने संभावना जताई है कि इस स्थिति में पीएम मोदी के हर निर्णय के आगे संगठन झुक सकता है और जब कार्यकर्ता भी उनसे सहमत होगा तो ऐसे में पीएम मोदी के हर निर्णय को मान लिया जाएगा। ऐसे में गलतियां होने की संभावनाऐं भी हैं। दरअसल निर्णायक और आक्रामक नेता गलतियां करेगा और पार्टी को उसके निर्णयों पर लगाम लगानी होगी।

वर्ष 2019 के लिए युवाओं पर होगा BJP का फोकस, डिजीटल माध्यम से होगा पार्टी का प्रचार

औवेसी ने कहा, गंगा जमुनी तहजीब पर हमला है योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाना

जम्मू श्रीनगर की यात्रा में बचेगा ढाई घंटे का समय, सुरंग का शुभारंभ करेंगे PM मोदी

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -