LAC विवाद: दुनिया के सबसे ऊँचे स्थान पर एयरपोर्ट बना रहा चीन, करवाई फाइटर जेट्स की ट्रायल लैंडिंग

नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भले ही शांति बहाली की बात दोनों देशों के बीच चल रही हों, किन्तु इस बीच चीन द्वारा अपने इंफ्रास्ट्रक्चर को तेजी से बढ़ाने की भी ख़बरें सामने आ रही है. इस बीच ना केवल चीन अपनी एयरफोर्स के लिए नए एयरस्ट्रिप्स (हवाई पट्टी) और हैंगर बना रहा है, बल्कि अब चीन विश्व का सबसे ऊंचाई वाली जगह पर एयरपोर्ट बनाने जा रहा है.

खास बात यह है की ये हवाई अड्डा केवल सिविल एयरपोर्ट नहीं होगा, बल्कि चीन इसी एयरपोर्ट के बराबर में अपने फाइटर एयरक्राफ्ट के लिए हैंगर भी बना रहा है. जानकारी ये भी है कि चीन ने हाल ही में ना केवल अपने कमर्शियल फ्लाइट्स का बल्कि अपने फाइटर एयरक्राफ्ट्स और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट्स को यहां उतारकर ट्रायल भी कर लिया है. बता दें कि चीन ने हाल ही में अपने J-20 लड़ाकू विमानों 
को भी यहां लैंड कराया था. इसके अलवा Y-20 एयरक्राफ्ट को भी लैंड कराया है.

बताया जा रहा है कि ये हवाई अड्डा 2022 तक पूरी तरह से ऑपरेशनल हो जाएगा. ये एयरपोर्ट तिब्बत के शिंजियांग के ताशकरगोन में बनाया जा रहा है. ये एयरपोर्ट लगभग 3,252 मीटर्स की ऊंचाई पर है, जो विश्व में सबसे ऊंचाई पर है. इस पूरे प्रोजेक्ट पर चीन लगभग 250 मिलियन डॉलर से अधिक पैसा खर्च कर रहा है.

टीकाकरण नहीं तो वेतन नहीं, यहाँ सरकारी कर्मचारियों के लिए जारी हुआ नया फ़रमान

सभी मुख्यमंत्रियों को ओडिशा CM ने लिखा पत्र, कहा- केंद्र के जरिए ही हो वैक्सीन की खरीदारी

केरल के सीएम पिनाराई विजयन ने केंद्र से ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ कदम उठाने का किया आग्रह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -