चीन ने मचाया सूअरों का कत्लेआम, 9 लाख से ज्यादा सूअर मारने के पीछे निकली ये वजह

Jan 17 2019 12:01 PM
चीन ने मचाया सूअरों का कत्लेआम, 9 लाख से ज्यादा सूअर मारने के पीछे निकली ये वजह

बीजिंग: भारत के सबसे करीबी देश चीन से एक ऐसी खबर प्रकाश में आई है, जिससे पशु प्रेमियों को बहुत बड़ा धक्का पहुंचा है, इन दिनों चीन में अफ्रीकन स्वाइन फीवर ने हाहाकार मचा रखा है, जिसके चलते चीन ने 9,16,000 सूअरों को मौत के घाट उतार दिया है, क्योंकि इस फीवर ने अब तक लगभग 100 लोगों को चपेट में ले लिया है.

अमेरिका से भारत खरीदेगा तेल और गैस, रक्षा उपकरण पर भी विचार

खबरों की माने तो चीन के कृषि मंत्रालय से द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक यह बीमारी लगातार नए इलाकों और कृषि फार्म तक तेजी से फैलती जा रही है. इस बिमारी के बारे में पिछले साल अगस्त महीने में पता चला था, उसके बाद से यह बीमारी चीन के 24 प्रांतों तक पहुंच चुकी है, जिसकी वजह से चीन के बेहद बड़े पोर्क बाजार यानी के सूअरों के कारोबार को काफी क्षति पहुंची है. आपकों जानकारी के लिए बता दें की चीन विश्व का सबसे बड़ा पोर्क बाजार है.  वर्ष 2017 में चीन में लगभग 70 करोड़ सूअर काटे और विक्रय गए हैं, गत वर्ष चीन ने मार्च में सूअर के मांस के विभिन्न उत्पादों पर सीमा शुल्क में 25 प्रतिशत वृद्धि भी की थी. 

थाईलैंड में फर्जी शादियों का रैकेट चलाने वाले, भारतीय नागरिक सहित कई महिलाएँ गिरफ्तार

इतना ही नहीं चीन ने वर्ष 2017 के दौरान अमेरिका से तीन लाख टन सूअर का प्रसंस्कृत मांस भी आयात किया था. दरअसल, सुअर के मांस से 128 अलग-अलग तरह के उत्पाद बनते हैं, ऐसे में चीन से भी अमेरिका सूअर के मांस का आयात करता है. ऐसे में लाखों सूअरों की मौत से चीन के पोर्क बाजार पर बड़ा प्रभाव पड़ने की संभावना जताई जा रही है.

खबरें और भी:-

शटडाउन पर कुछ इस तरह बयां की, ट्रंप ने अपनी परेशानी

विश्व बैंक की अध्‍यक्ष हो सकती है भारतीय मूल की इन्दिरा नूई, ट्रम्प की बेटी इवांका ने सबसे आगे रखा नाम

नहीं मिल पाई ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे की योजना को संसद की मंजूरी