बड़ा खुलासा: भारतीय सेना के डॉक्टर को चीन ने किया किडनैप, फिर कर डाली हत्या

नई दिल्ली: दो साल पहले, पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन सेनाओं के बीच हुए खूनी संघर्ष से जुड़ा एक और बड़ा खुलासा हुआ है। चीन तो शुरु से ही मारे गए अपने सैनिकों की तादाद को छुपाता रहा है, मगर भारतीय सैनिकों के ख़िलाफ़ चीनी सेना की बर्बरता बर्दाश्त के काबिल नहीं है। चीनी सेना ने अपने जख्मी सैनिकों के उपचार के लिए एक भारतीय सेना के डॉक्टर को किडनैप कर लिया था और इलाज के बाद उन्हें मार डाला था। यह हैरतअंगेज़ खुलासा हाल ही में प्रकाशित एक पुस्तक में हुआ है।

दो पत्रकारों शिव अरूर और राहुल सिंह ने अपनी पुस्तक में जून 2020 को हुई उस घटना का विस्तार से उल्लेख किया है। ‘इंडियाज मोस्ट फियरलेस 3 : न्यू मिलिटरी स्टोरीज ऑफ अनइमैजिनेबल करेज ऐंड सेक्रिफाइस’ में बताया गया है कि इंडियन आर्मी के डॉक्टर ने कई चीनी सैनिकों की जान बचाई और बाद में चीनी सैनिकों ने डॉक्टर को बेरहमी से मार डाला। बता दें कि 15 जून 2020 की रात भारतीय सेना और चीनी फ़ौज के बीच हुई झड़प में एक कर्नल सहित 20 भारतीय सेना के जवान शहीद हो गए थे। हालांकि चीन इस बात को स्वीकार करने के लिए राजी नहीं था कि उसके सैनिक भी इस संघर्ष में मारे गए हैं। बाद में चीन ने अपने चार सैनिकों के मारे जाने की बात स्वीकार की। 

किताब में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि चीन ने अपने नुक़सान को छुपाने के लिए बड़े स्तर पर दुष्प्रचार का सहारा लिया। किताब के अनुसार, चीन ने अपने घायल सैनिकों को उनके हाल पर छोड़ दिया था, उस समय एक भारतीय डॉक्टर ने कई चीनी सैनिकों की जान बचाई। डॉक्टर दीपक सिंह ने कई भारतीय जवानों की भी जान बचाई। डॉक्टर दीपक के बलिदान के लिए, उन्हें मरणोपरांत युद्धकाल के दूसरे सर्वोच्च सम्मान वीर चक्र से भी नवाज़ा गया था

भीमा कोरेगांव मामले में वरवरा राव को मिली राहत, सुप्रीम कोर्ट ने मेडिकल ग्राउंड पर दी जमानत

राष्ट्रगान गाते-गाते 81 वर्षीय पूर्व सैनिक ने तोड़ा दम, 1962 के भारत-चीन युद्ध में रहे थे शामिल

ओवैसी की पार्टी में ISIS का आतंकी, बना चुका था 15 अगस्त को बम ब्लास्ट का प्लान

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -