कोरोना फैलाकर नोट छाप रहा चीन, जानें कैसे

विश्वभर में कई देशों को कोरोना वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया है. इस महामारी की मुसीबत में झोंक देने वाला चीन अब उसी के माध्यम से नोट छाप रहा है. कोरोना वायरस से बचाव के लिए चीन दुनिया के कई देशों को मास्क का निर्यात कर रहा है और उसके लिए यह धंधा बहुत फायदे का साबित हो रहा है.

कोरोना को लेकर सबसे बड़ी खबर, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पाए गए संक्रमित

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मध्य चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान में जनवरी के आखिर में कोरोना वायरस का प्रकोप शुरू हुआ. फरवरी तक वुहान के साथ ही हुबेई प्रांत के अन्य हिस्सों को भी वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया था. ऐसे में गुआन शूंजे नामक कंपनी ने मात्र 11 दिन में ही मास्क बनाने वाली एक नई फैक्ट्री खड़ी कर दी. उत्तरपूर्वी चीन में पांच इकाइयां स्थापित करने वाली यह कंपनी अब व्यापक पैमाने पर एन95 मास्क बना रही है, जिसकी दुनियाभर में भारी मांग है.

काबुल गुरुद्वारा हमला: केरल के आतंकी ने दिया था वारदात को अंजाम ! जांच में जुटी सुरक्षा एजेंसियां

अगर आपको नही पता तो बता दे कि चीन में कोरोना वायरस से संक्रमण का मामला कम हुआ तो फैक्ट्री के युवा मालिक ने इटली को मास्क का निर्यात करना शुरू कर दिया, जो चीन से भी ज्यादा बुरी तरह से इस वायरस से प्रभावित हुआ है. बिजनेस डाटा प्लेटफार्म तियानयंचा के मुताबिक भारी मांग को देखते हुए इस साल के पहले दो महीने के भीतर ही चीन में 8,950 कंपनियों ने मास्क बनाने का काम शुरू कर दिया है.

कोरोना की मार से दुनियाभर में हाहाकार, स्पेन में 24 घंटों में 718 की मौत

क्या कोरोना का होने वाला है अंत ? वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता

ब्रिटेन ने भी अपनाया पीएम मोदी का तरीका, कोरोना वारियर्स के समर्थन में बजाई तालियां

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -