मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में चीन बना रोड़ा, भारत ने पुछा सवाल

Mar 23 2019 04:25 PM
मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में चीन बना रोड़ा, भारत ने पुछा सवाल

न्यूयॉर्क: भारत के पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर ने कहा है कि चीन को यह विचार करना होगा कि वो पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र में अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने के रास्ते में तकनीकी बाधा उत्पन्न कर दुनिया को क्या संदेश दे रहा है. दरअसल, चीन ने पिछले हफ्ते लगातार चौथी बार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने के प्रस्ताव पर रोक लगा दी थी.

महबूबा और अब्दुल्ला ने साधा केंद्र पर निशाना, कहा- चुनाव के लिए किया पाकिस्तान दिवस का बहिष्कार

उल्लेखनीय है कि भारत द्वारा जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए फिदायीन हमले में सीआरपीएफ के 44 जवानों के शहीद होने के बाद यह प्रस्ताव लाया गया था. इस बारे में टाटा ग्रुप में वैश्विक कॉरपोरेट मामलों के अध्यक्ष तथा चीन तथा अमेरिका में भारत के राजदूत के पद पर रह चुके जयशंकर ने कहा है कि यह ऐसा मुद्दा है जिस पर चीनी लोगों को विचार करना चाहिए कि वे विश्व को क्या संदेश दे रहे हैं.

बुर्ज खलीफा पर छाई न्यू ज़ीलैण्ड के पीएम की तस्वीर, क्राइस्टचर्च के पीड़ितों को लगाया था गले

उन्होंने मसूद अजहर पर बैन लगाने के प्रस्ताव को चीन द्वारा फिर से रोक लगाने के एक सवाल के जवाब में यहां इस हफ्ते एशिया सोसायटी के एक सत्र में यह बयान दिया है. यह सवाल किए जाने पर कि चीन की महत्वाकांक्षी बेल्ट एंड रोड पहल को भारत किस तरह देखता है, इस पर जयशंकर ने जवाब देते हुए कहा है कि इस परियोजना पर भारत का रवैया पूरी तरह स्पष्ट किया जा चुका है. उन्होंने कहा है कि चीन की पहल को लेकर भारत की कुछ विशेष चिंताएं हैं.

खबरें और भी:-

पीएनबी घोटाला: नीरव मोदी की मुसीबतें बढ़ीं, अदालत ने ठुकराई जमानत याचिका

सुल्तान अजलान शाह कप : पहले मुकाबले में जापान से भिड़ेगा भारत

Video : हीरा चुराकर ये चींटी बनी सबसे अमीर