LAC पर पंजाबी गाने बजा रहा चीन, 1962 के युद्ध में भी की थी ऐसी हरकत

Sep 17 2020 12:57 PM
LAC पर पंजाबी गाने बजा रहा चीन, 1962 के युद्ध में भी की थी ऐसी हरकत

नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच पूर्वी लद्दाख स्थित सीमा को लेकर लगातार गतिरोध बढ़ता जा रहा है। इस दौरान भारत ने पहले ही चीन को जवाबी कार्यवाही  की चेतावनी दी दी है, इसके साथ ही भारत सरकार ने अपनी सैन्य ताकत भी सीमा पर बढ़ा दी है। किन्तु अब चीन इंडियन आर्मी को परेशान करने और उनका ध्यान भटकाने के लिए 1962 के युद्ध में अपनाए गए हथकंडे अपना रही है।

खबर है कि चीनी सेना,  भारतीय सेना का ध्यान भटकाने के लिए LAC पर पंजाबी गाने बजा रही है। इसके लिए चीनी सेना ने बाकायदा पैंगोंग सो के फिंगर एरिया पर लाउडस्पीकर भी लगाए हैं। चीनियों ने इंडियन आर्मी पर ध्यान रखने और उनका ध्यान भटकाने के लिए ये तरकीब ढूंढ निकाली है। चीनी आर्मी के इस प्रयोग के बाद भी इंडियन आर्मी मुस्तैदी के साथ बॉर्डर पर टिकी है और चीनियों पर निगरानी रख रही है। वहीं इस प्रयोग के संबंध में कहा जा रहा है कि इस प्रकार की हरकत चीन ने वर्ष 1962 में भी की थी, जब भारत और चीन के बीच जंग हुई थी। चीनी फ़ौज ने उस वक़्त भी युद्ध से पहले पश्चिमी और पूर्वी सेक्टर में भी ये प्रयोग आजमा कर इंडियन आर्मी का ध्यान भटकाने की कोशिश की थी। यही नहीं, 1967 के नाथू ला टकराव में भी चीन ने ऐसा ही किया था।

चीनी सेना पंजाबी गाने ही नहीं बल्कि लाउडस्पीकर पर भारतीय नेताओं के भाषण भी बजा रही है। ये सभी भाषण हिंदी में हैं और मशहूर भारतीय नेताओं के हैं। इन भाषणों में सर्दी के बीच रहने की बात की जा रही है। चीनी सेना की इस हरकत का उद्देश्य भी भारतीय सेना में फूट डालना और उनका मनोबल गिराना है।

सीएम केजरीवाल का ऐलान- संसद में खेती सम्बंधित विधेयक का विरोध करेगी 'आप'

'ताली-थाली' पर विपक्ष ने घेरा तो सुधांशु त्रिवेदी बोले- क्या चरखे से आज़ादी मिली थी ?

गडकरी के बाद केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल भी निकले कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी