भारत में स्थानांतरण के आंकड़े को लेकर चौकाने वाली रिपोर्ट आई सामने

भारत में इस समय सबसे ज्यादा कोरोना का प्रभाव देखने को मिल रहा है. कोरोना और लॉकडाउन की वजह से भारतीय अ​र्थव्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है. वही, अब संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2019 में भारत में प्राकृतिक आपदाओं, संघर्ष और हिंसा के चलते 50 लाख से ज्यादा लोग आंतरिक रूप से विस्थापित हुए थे. इस अवधि के दौरान विश्व में आंतरिक रूप से हुए नए विस्थापनों की यह सबसे बड़ी संख्या थी. भारत के बाद फिलीपीन, बांग्लादेश और चीन में विस्थापितों की संख्या सबसे अधिक थी. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) द्वारा प्रकाशित लॉस्ट एट होम रिपोर्ट में कहा गया कि 2019 में करीब 3.3 करोड़ नए विस्थापन रिकॉर्ड किए गए जिनमें से 2.5 करोड़ विस्थापन प्राकृतिक आपदा के कारण और 85 लाख विस्थापन संघर्ष एवं हिंसा की वजह से थे.

पुलवामा में जारी है सेना और आतंकियों की मुठभेड़, एक को किया ढेर

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस रिपोर्ट में बताया गया कि कुल विस्‍थापितों में से 1.2 करोड़ बच्चे शामिल थे जिनमें से 38 लाख बच्चे संघर्ष एवं हिंसा के कारण विस्थापित हुए और 82 लाख बच्चे मौसम संबंधी आपदाओं के चलते विस्थापित हुए. रिपोर्ट में कहा गया है कि संघर्ष एवं हिंसा की तुलना में प्राकृतिक आपदाओं के कारण ज्यादा विस्थापित हुए. 2019 में करीब एक करोड़ नए विस्थापन पूर्वी एशिया और प्रशांत में हुए जबकि इतनी ही संख्या में दक्षिण एशिया में भी लोगों को विस्थापित होने का दंश सहना पड़ा.

खौफनाक मंज़र: गोदाम में आग लगने से लोगों में मचा कोहराम

इसके अलावा रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2019 में भारत, फिलीपींस, बांग्लादेश और चीन को प्राकृतिक आपदाएं झेलीं. इसकी वजह से लाखों लोग विस्थापित हुए जो वैश्विक आपदा के कारण हुए विस्थापनों का 69 फीसद है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया भर में आपदा के कारण हुए करीब 82 लाख बच्‍चों को भी विस्‍थापित होना पड़ा था. भारत के अंदर ही नए आंतरिक विस्थापनों की कुल संख्या 50,37,000 रही जिसमें 50,18,000 प्राकृतिक आपदाओं के कारण और 19,000 लोगों का विस्थापन संघर्ष एवं हिंसा के चलते हुआ.

जन-धन : सरकार ने खातों में भेजी 500 रु की राशि, जानें कब आएगा आपका नंबर

कच्चे तेल के दाम में भारी गिरावट, खजाना भरने के लिए सरकार ने किया ऐसा काम

कोरोना ने मचाया तहलका, बीते 24 घंटों में 3466 पॉजिटिव मरीजों की हुई मौत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -