विभाग ने माना कुपोषण से हुई थी बच्चों की मौत

श्योपुर : आखिकार स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने यह मान ही लिया है कि बीते पांच माह से अभी तक जिन 116 बच्चों की मौत हुई है, उसका कारण कुपोषण है। इसके पहले न तो जिले के स्वास्थ्य विभागीय अधिकारी ही यह मानने को तैयार थे और न ही मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी।

मीडिया में इस मामले का जब खुलासा हुआ तो फिर अब इस बात की पुष्टि अधिकारिक तौर कर दी गई है। बताया गया है कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आरपीएस सरल ने पहले रिपोर्ट को ही बदल दिया था लेकिन जब मामला उछला तो फिर उन्होंने यह स्वीकार किया है कि कुपोषण के कारण ही अभी तक बीते पांच माह में 116 बच्चे मौत के शिकार हुये है।

बच्चों की मौत के आंकड़े डाॅ. सरल ने जिला पंचायत सभागार में आयोजित साधारण सभा की बैठक में मुहैया कराये है। गौरतलब है कि प्रदेश में कुपोषण जैसी बीमारी फैल रही है और इसके शिकार कई बच्चे हो जाते है। हालांकि सरकार द्वारा कुपोषण से बचाव संबंधी जनजागरूक अभियान भी चला रही है लेकिन जिस तरह से मामले सामने आये है वह चिंता का विषय है।

मध्यप्रदेश फिर शर्मसार,रेप और कुपोषण के बाद अब इस मामले में भी नंबर वन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -