+

बालगृह से लापता बच्चियों की मौत के मुद्दे पर बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने मांगा जवाब

बालगृह से लापता बच्चियों की मौत के मुद्दे पर बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने मांगा जवाब

पटना: हाल ही में सहरसा में संचालित बालगृह केन्द्र में एक अनाथ बच्चे की मौत व दो लापता बच्चियों के मामले में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने सहरसा के डीएम से पूरी जानकारी मांगी है. मालूम हो कि शहर के डुमरैल चौक स्थित बालगृह में जुलाई 2019 के अंतिम सप्ताह में चीकू नामक एक बच्चे की मौत हो गई थी. जंहा पूर्व में संचालित बालिका गृह से दो बच्चियां गायब हो गयी हैं. वहीं इसी मामले को लेकर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग नई दिल्ली ने डीएम को पत्र देकर मामले से संबंधित दस्तावेज सहित इस प्रकरण में वैधानिक कार्रवाई करते हुए 15 दिनों के अंदर अवगत कराने का निर्देश दिया है. बालिका गृह में रह रही अनाथ 21 बच्चियों के विषाक्त भोजन खाने से 17 बच्चियां बीमार पड़ गयीं. इसके बाद बालिका गृह के 21 बच्चियों को जून 17 में बालिका गृह मधुबनी भेजा गया. भेजी गयी बच्चियों में केवल 19 बच्चियां पाई गई और दो बच्चियों के बारे में कोई जानकारी अभी तक नहीं मिल रही है. गायब बच्चियों के अंगों को बेच दिया गया है और शरीर को छुपा दिया गया है.

किशोर न्यास परिषद ने भी करायी थी जांच: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चीकू की मौत मामले में किशोर न्यास परिषद ने भी जांच करायी थी. परिषद के अध्यक्ष सह प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी ने बच्चे की मौत पर भेजी गई सूचना पर संज्ञान लेते 2/19 केस दर्ज कर जांच का आदेश दिया था. सूत्रों के अनुसार परिषद द्वारा मांगी गई जानकारी पर जिला बाल संरक्षण इकाई व बाल संरक्षण समिति द्वारा बच्चे का पोस्टमार्टम होने का कोई साक्ष्य नहीं देकर गोलमटोल जवाब दिया गया था. इसके बाद यह मामला दब गया.

पूर्व में भी कई बच्चों की मौत पर उठे थे सवाल: वहीं इस बात का पता चला है कि पूर्व में भी बालगृह में कई बच्चों की मौत हो चुकी है. इन बच्चों की मौत का कोई साक्ष्य नहीं है. वर्ष 16 में भी एक बच्चे की मौत पर संस्थान की भूमिका पर सवाल उठा था. इसके बाद समाज कल्याण निदेशालय के निदेशक ने संज्ञान लिया था. लेकिन जांच का मामला ठंडे बस्ते में चला गया.

बांड तोड़कर अन्य राज्यों में सेवाएं दे रहे हिमाचल के डॉक्टर, अब राज्य सरकार ने उठाया ये कदम

भोपाल: बगैर इजाजत के काट दिए थे दो पेड़, शख्स पर लगा एक लाख रुपए का जुर्माना

सिपाही के क़त्ल का आरोपी और 25 हज़ार का इनामी बदमाश मुठभेड़ में गिरफ्तार