आखिर क्यों गैस त्रासदी पीड़ितों से मिलना चाहते है चंद्रबाबू नायडू ?

कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के बीच तेलुगु देशम पार्टी के प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश के डीजीपी गौतम सवांग को पत्र लिखकर विशाखापट्टनम गैस त्रासदी पीड़ितों से मिलने की अनुमति मांगी है. उन्होंने सोमवार को हादसे के पीड़ितों से मिलने की इच्छा जताई है.

राहुल के वीडियो को मायावती ने बताया नाटक, कहा- मजदूरों की दुर्दशा की असली कसूरवार कांग्रेस

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कोरोना के कारण देश में लागू लॉकडाउन के चलते नायडू हैदराबाद में ही हैं. पूर्व मुख्यमंत्री सोमवार सुबह 10.35 बजे विशाखपट्टनम के लिए फ्लाइट लेंगे. इसके बाद वो आंध्र प्रदेश की राजधानी अमरावती भी जाएंगे. वही, 7 मई को आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में एक गैस लीक हादसे में 11 लोगों की जान चली गई थी. हादसे में आसपास के गांवों के हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए थे. करीब दो दर्जन लोगों की हालत गंभीर थी.

कोरोना: शरद पवार बोले- सभी सियासी दलों से बात करें पीएम, ये दिखावे का समय नहीं

अगर आपको नही पता तो बता दे कि तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) ने विशाखापट्टनम गैस रिसाव त्रासदी में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति गहरा दुख और संवेदना व्यक्त की थी. इसके साथ ही टीडीपी के महागठबंधन ने यह भी मांग की थी कि राज्य सरकार एलजी पॉलिमर कंपनी द्वारा दक्षिण कोरिया में दिए जाने वाले पैकेज के साथ पीड़ितों को मुआवजा सुनिश्चित करने के लिए कड़े प्रयास करेगी. टीडीपी द्वारा अपनी पहली ऑनलाइन आम सभा में मृत व्यक्तियों की याद में 2 मिनट का मौन रखा गया था.

OMG! पानी की कमी वाले शहर बन सकते है कोरोना का अगला शिकार

नहीं थम रही यूपी की बस पॉलिटिक्स, अब राजस्थान सरकार ने किया नया दावा

UP कांग्रेस अध्यक्ष की गिरफ़्तारी पर भड़के गहलोत, बोले- आवाज़ उठाना गुनाह नहीं

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -