छत्तीसगढ़ पुलिस की बड़ी सफलता, नक्सलियों की साजिश नाकाम, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद

छत्तीसगढ़ पुलिस की बड़ी सफलता, नक्सलियों की साजिश नाकाम, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद

रायपुर: छत्तीसगढ़ की कवर्धा पुलिस ने नक्सलियों के बड़े षड्यंत्र को नाकाम करते हुए तरेगांव थाना के धुमाछापर जंगल से भारी मात्रा में विस्फोटक पदार्थ व नक्सली सामग्री जब्त किए हैं। एसपी लालउमेंद सिंह ने इस पूरे मामले का पर्दाफाश किया। वहीं, पुलिस ने इलाके में तलाशी अभियान तेज कर दिया है। आपको बता दें कि मई 2018 को इसी जंगल मे पुलिस-नक्सली का एनकाउंटर भी हुआ था। जिसमें पुलिस ने एक नक्सली को ढेर कर दिया था। 

दरअसल, कवर्धा पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि क्षेत्र में नक्सली संगठनों के द्वारा पुलिस को क्षति पहुंचाने और घातक हमले करने के लिए तरेगांव जंगल क्षेत्र में विस्फोटक पदार्थ एवं अन्य सामाग्री जमीन के भीतर छिपकर रखी गई है। उक्त सूचना पर कार्यवाही के लिए पुलिस ने टीम बनाकर संभावित क्षेत्र में भेजी था। ग्राम धूमाछापर के पास जंगल में पुलिस ने पहुंचकर मुआयना किया। इस दौरान नक्सलियों द्वारा तीन अलग-अलग स्थानों से जमीन के भीतर दबाकर रखे गए विस्फोट पदार्थ और अन्य सामाग्री मिली। 

पुलिस ने नक्सल साहित्य, 5 डेटोनेटर, 2 कार्टून टाप टाईगर बम, 5 बंडल तार, 13 कुकर, 5 किलो स्पींटर (छड़ का टुकड़ा) आदि जब्त किए हैं। वहीं, इस मामले में पुलिस ने नक्सलियों का कृत्य धारा 3, 5 विस्फोटक सामग्री अधिनियम का अपराध पाए जाने से थाना तरेंगांव जंगल में माओवादी संगठन कान्हा-भोरमदेव डिवीजन समिति के सचिव सुरेंदर उर्फ कबीर और विस्तार प्लाटून 3 के कमांडर राकेश होड़ी के विरुद्ध 3, 5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम 1908, 38(2) विधि विरूद्ध क्रिया-कलाप निवारण अधिनियम 1967 कायम किया है। 

भारत-अमेरिका के द्विपक्षीय व्यापार पर अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्द्धन ने दिया यह बयान

देश में मोबाइल बैंकिंग के जरिए ट्रांजेक्शन में हुई बढ़ोतरी, पढ़े रिपोर्ट

इस डिजिटल पेमेंट कंपनी ने 250 करोड़ रुपये निवेश करने का किया ऐलान