सुकमा में इस वजह से हुई थी जवानों की हानि

Mar 25 2020 03:57 PM
सुकमा में इस वजह से हुई थी जवानों की हानि

बीते दिनों छत्तीसगढ़ के सुकमा में जवानों का सैटेलाइट ट्रैकर का नेटवर्क टूटने के कारण बड़ी हानि हुई थी. जिले में बीते शनिवार को हुई नक्सली मुठभेड़ में 17 जवानों के शहीद हो गए थे.जहां इसके बाद फोर्स ने अपने रणनीति बदल दी है. बताया गया कि अब जब भी जवान जंगलों में ऑपरेशन के लिए जाएंगे, तो उनकी कंट्रोल रूम से मॉनिटरिंग की जाएगी. वहीं, इस दौरान फोर्स को निर्देशित किया गया है कि किसी भी स्थिति में सैटेलाइट ट्रैकर बंद होने के बाद ऑपरेशन में आगे ना चलाएं.

कोरोना पर सीएम ठाकरे की अपील, कहा- मैं अपनी पत्नी की सुन रहा हूँ, आप भी घर में रहें और पत्नी की सुनें

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि एंटी नक्सल ऑपरेशन के आलाधिकारियों ने बताया कि जंगल के अंदर जवानों का ऑपरेशन चल रहा है. फोर्स नक्सलियों के प्रभाव वाले इलाके में काफी अंदर तक घुस गई है. ऐसे में फोर्स को वापस बुलाने का सवाल नहीं उठता है. वहीं, सुकमा और बीजापुर में एंटी नक्सल ऑपरेशन की मॉनिटरिंग के लिए आइपीएस जितेंद्र शुक्ला और केएल ध्रुव को तैनात किया गया है.

यूपी में लॉकडाउन को लेकर अखिलेश यादव ने बोली ये बात

इस मामले को लेकर दोनों अधिकारियों ने एसपी ऑफिस में कंट्रोल रूम तैयार किया है. यहां से जवानों की मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है. शुक्ला और ध्रुव पहले भी यहां पदस्थ रह चुके हैं. ऐसे में उनको जिले की भौगोलिक स्थिति और मूवमेंट के बारे में जानकारी है. विशेष सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार की बैठक में भी इसी रणनीति पर काम करने का निर्णय लिया गया है.

केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में कोरोना का कहर, लंबी​-लंबी दुरियों पर कुर्सी लगाकर बैठे मंत्री

'कोरोना' की कहानी सुनाओ और नकद इनाम पाओ, सरकार ने शुरू की योजना

कोरोना: आखिर 21 दिन का ही लॉक डाउन क्यों ? क्या है सरकार का प्लान