छत्तीसगढ़: धर्मान्तरण पर आधी रात को मचा बवाल, ग्रामीणों ने 40 लोगों को बनाया बंधक

रायपुर: छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के अंतर्गत आने वाले ओटेबंद गांव में में धर्मांतरण के लिए आए मिशनरियों के चलते बवाल हो गया।ग्रामीणों ने 40 से अधिक की संख्या में पहुंचे ईसाई समाज के लोगों को बंधक बना लिया। इसमें पुरुष, बच्चे व महिलाएं भी शामिल थीं। घटना रविवार-सोमवार की दरम्यानी रात की है। गांव में तनाव बढ़ता देख नंदिनी पुलिस थाने को सूचित किया गया।

इस बीच भाजपा, विश्व हिंदू परिषद व शिवसेना के कार्यकर्ता बड़ी तादाद में मौके पर पहुंच गए और जय श्रीराम के नारे लगाने लगे। नंदिनी थाना की पुलिस ग्रामीणों को समझाती रही, मगर वे नहीं माने। इसके बाद दुर्ग हेडक्वार्टर से पुलिस बल बुलाना पड़ा। पुलिस ने धर्मांतरण कराने पहुंचे तमाम लोगों को हिरासत में ले लिया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, धमधा ब्लॉक के ओटेबंद गांव में विशेष प्रार्थना और धर्मांतरण की खबर से तनाव की स्थिति पैदा हो गई। यहां रायपुर सहित कई जगहों से बच्चे, पुरुष और महिलाओं समेत 40 से अधिक लोग पहुंचे थे।

गांव के भाटापारा इलाके में विशेष सभा आयोजित की गई थी। इसकी सूचना ग्रामीणों को हुई तो गांव वाले वहां इकठ्ठा हो गए। बाहर से आने वालों से गांव आने का कारण पूछने लगे। इस दौरान धर्मान्तरण करने आए सभी लोग गोलमोल जवाब देते रहे। कुछ विशेष प्रार्थना सभा की बात कहने लगे। संतोषजनक उत्तर न मिलने पर ग्रामीणों ने कुछ लोगों की पिटाई भी कर दी। सभी को एक सामुदायिक भवन में रखा गया था। इसी बीच नंदिनी थाना की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने ग्रामीणों को समझाया और धर्मांतरण करने पहुंचे महिलाओं व पुरुषों को हिरासत में लिया।  

स्पाइसजेट ने रविवार से तिरुपति और दिल्ली के बीच एक नई सेवा की शुरू

राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने जारी किए नए दिशानिर्देश

दिल्ली में चल रही बीजेपी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -