साइकिल चोर चोरी कर बन रहा था रोबिन हुड लेकिन..

साइकिल चोर चोरी कर बन रहा था रोबिन हुड लेकिन..

चोर हमेशा अपने लिए ही चोरी करता है ताकि उसे कोई मेहनत ना करनी पड़े और सब कुछ उसे ऐसे ही मिल जाए. लेकिन चोरी में भी मेहनत लगती है. पर क्या कभी सुना है दूसरों की भलाई के लिए कोई चोर चोरी कर रहा है. हां एक रॉबिनहुड ही था जो गरीबों की मदद करता है, जो भी चुराकर लता था उसे गरीबों में बाँट देता था. लेकिन ये सब बस किताबों में ही होगा ये आप भी जानते हैं. ये बात जानकर आप और भी हैरान रह जायेंगे कि असल में भी एक ऐसा रॉबिनहुड सामने आया है जो दूसरों के लिए चोरी करता है. आइये बताते हैं उसके बारे में कौन है ये गरीबों का मसीहा.

गर्लफ्रेंड नाराज़ हुई तो माफ़ी के लिए छपवाए 300 बैनर और..

दरअसल, छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले का है जहाँ पर पुलिस ने एक ऐसे शख्स को पकड़ा है जो किताबों की तरह ही गॉँववालों  रॉबिनहुड बना हुआ है. उसे जब पकड़ा तो उसने बताया कि गाँव के बच्चों के लिए चोरी करता है. आपको बता दें, ये चोर चोरी की साइकिलों को गांव में लेकर आता है और बच्चों को दे देता है यानी इससे वो बच्चों की भलाई का काम कर रहा है लेकिन पुलिस की नज़रों में ये जुर्म है जिसके चलते उसे पकड़ लिया गया है. 

यहाँ है दुनिया की सबसे ऊँची शिव मूर्ति, बुर्ज खलीफा से होती है तुलना

ये चोर है सुंदरलाल निषाद जिसके पास से 56 साइकिल बरामद की है. भिलाई के अकलोड़ी थाना पुरानी भिलाई की पुलिस ने कहा कि निषाद के पास हर दिन नै साइकिल आती थी जिसे देखकर सभी हैरान रह जाते थे. लेकिन इन साइकिल को वह स्कूल-ट्यूशन जाने वाले बच्चों को चुराकर दे दिया करता था. गांव वालों को इस पर शक हुआ तब हुआ वो साइकिल बच्चों में बाँट रहा था और उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया और चोरी का राज़ खुला. इसके पहले भी वो दो बार  गिरफ्तार हो चुका है.

World Mosquito Day : इसलिए होता है मच्छरों का भी दिन

इस देश के विज्ञापन ने कहा 'अपने सैनेटरी पैड्स खुद बनाओ'

?