MP: दलित सरपंच ने सचिव के आने से पहले फ़रहाया तिरंगा तो मारी लात

छतरपुर: बीते कल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस का पर्व मनाया गया। इस दौरान जिले के धामची गांव में कुछ ऐसा हुआ जो सभी को हैरान कर गया। जी दरअसल यहाँ एक दलित सरपंच को सिर्फ इसलिए मारा गया क्योंकि वह दलित था और उसने सामान्य वर्ग के सचिव का इंतजार ना करते हुए झंडा फहरा दिया। मिली जानकारी के तहत यहाँ सरपंच हन्नु बसोर ने आरोप लगाया है कि उसी की पंचायत में सचिव के पद पर पदस्थ सुनील तिवारी को 15 अगस्त के दिन उसका झंडा फहराना नागवार गुजरा है।

इसके अलावा यह भी आरोप है कि सचिव ने जाति सूचक शब्द कहते हुए, उसे लात मार दी है। इस मामले में दलित सरंपच की शिकायत पर ओरडा रोड पुलिस स्टेशन सचिव के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीँ दूसरी तरफ दूसरे पक्ष ने भी थाने में दलित सरपंच के खिलाफ शिकायती आवेदन दिया है। इस मामले में अब पुलिस अधिकारी सभी आरोपों की जांच कर रहे हैं।

पुलिस का कहना है जांच के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि पूरा मामला क्या है। इस मामले में दलित सरपंच के कपड़े पर मिट्टी के निशान भी लगे हुए थे। वहीं, दूसरी तरफ सरपंच एवं उसकी पत्नी कट्टू बाई का कहना है कि दबंग सचिव ने उसके पति, बहू और खुद उसके साथ मारपीट की है। इस घटना के बाद दलित सरपंच, उसकी पत्नी और गांव के कुछ लोग ओरछा रोड थाना पहुंचे और अब लोगों ने आरोपी सचिव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

हरियाणा को मिला नया DGP, जानिए कौन हैं IPS पीके अग्रवाल

किन्नौर भूस्खलन में बढ़ी मरने वालों की संख्या

टॉपर वनिशा पाठक को CM शिवराज ने दिए 2 लाख रुपये

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -